Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

चंद्रयान-2 की कल होगी लॉन्चिंग, चांद पर फतह की ISRO ने की दमदार तैयारी

इसरो ने चंद्रयान-2 को ले जाने वाले बाहुबली रॉकेट जीएसएलवी मार्क-।।। का र‍िहर्सल पूरा कर लिया है। चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को दोपहर 2:43 बजे लॉन्च किया जाएगा।
अपडेटेड Jul 21, 2019 पर 10:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इसरो ने चंद्रयान-2 के लॉन्च व्हीकल जीएसएलवी मार्क 3-एम1 का लॉन्च रिहर्सल पूरा कर लिया है और इसका प्रदर्शन सामान्य पाया गया है। इसरो के मुताबिक चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग सोमवार दोपहर  2.43 बजे किया जाएगा।


तकनीकी खराबी के कारण 15 जुलाई को आखिरी समय में इसकी लॉन्चिंग रोक दी गई थी। बाद में वैज्ञानिकों ने बताया कि लॉन्च व्हीकल में तकनीकी खराबी के कारण ही प्रक्षेपण रोका गया था। वरिष्ठ वैज्ञानिकों ने जल्दबाजी करने की बजाय लॉन्चिंग रोकने के लिए इसरो की तारीफ की थी।


रॉकेट में 3.8 टन का चंद्रयान-2 अंतरिक्ष यान है। अपनी उड़ान के लगभग 16 मिनट बाद 375 करोड़ रुपये का जीएसएलवी-मार्क 3 रॉकेट 603 करोड़ रुपये के चंद्रयान-2 अंतरिक्ष यान को पृथ्वी पार्किंग में 170 गुणा 40400 किलोमीटर की कक्षा में रखेगा। धरती और चंद्रमा के बीच की दूरी लगभग 3 लाख 84 हजार किलोमीटर है। वहां से चंद्रमा के लिए लंबी यात्रा शुरू होगी। चंद्रयान-2 में लैंडर-विक्रम और रोवर-प्रज्ञान चंद्रमा तक जाएंगे।


जीएसएलवी मार्क-।।। को जियोसिंक्रोनस ट्रांसफर ऑर्बिट (जीटीओ) में 4 टन श्रेणी के उपग्रहों को ले जाने के लिए डिजाइन किया गया है। वीइकल में दो ठोस स्ट्रेप ऑन मोटर हैं। इसमें एक कोर तरल बूस्टर है और ऊपर वाले चरण में क्रायोजेनिक है। अब तक इसरो ने 3 जीएसएलवी-एमके 3 रॉकेट भेजे हैं। एक बार जब जीएसएलवी जियो ट्रांसफर ऑर्बिट में पहुंच जाएगा, तब यह चंद्रयान को 170 km×20,000km में स्थापित करेगा। इसके बाद चंद्रयान चंद्रमा की कक्षा की ओर बढ़ेगा।