Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

खुशखबरी: जल्द ही एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ में मिलेगी चाय

जल्द ही अब आपको बड़े रेल स्टेशनों, बस डिपो, एयरपोर्ट और मॉल में कुल्हड़ में चाय मिलेगी। इसके लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखा है।
अपडेटेड Aug 26, 2019 पर 13:53  |  स्रोत : Moneycontrol.com

यात्रा के दौरान अब आपको गर्मा गरम चाय की चुस्की कुल्हड़ में मिल सकती है। इसके लिए केंद्रीय सड़क परिवहन और MSME मंत्री नितिन गडकरी ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को लिखी चिट्ठी में बस अड्डों, एयरपोर्ट और राज्य परिवहन उपक्रमों के साथ–साथ 100 रेलवे स्टेशनों पर कुल्हड़ का उपयोग करने का सुझाव दिया है। मौजूदा समय मे केवल वाराणसी और रायबरेली स्टेशनों पर पकी मिट्टी से बने कुल्हड़ में चाय दी जाती है।
सरकार के इस कदम से भारत के मिट्टी के बर्तनों के उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। नितिन गडकरी ने रेल मंत्री को लिखे गए पत्र में कहा है कि 100 रेल स्टेशनों पर कुल्हड़ अनिवार्य किया जाए। गडकरी ने आगे कहा कि मैंने एयरपोर्ट्स, बस डिपो की चाय की दुकानों पर भी इसे अनिवार्य करने का सुझाव दिया है। साथ ही हम मॉल में कुल्हड़ के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करेंगे।


नितिन गडकरी ने कहा कि इससे पेपर और प्लास्टिक में पेय पदार्थ देने पर रोक लगेगी। साथ ही इस कदम से स्थानीय कुम्हारों को बड़ा बाजार मिलेगा और कुल्हड के उपयोग से पर्यावरण को साफ रखने में मदद मिलेगी। गडकरी ने कहा कि उन्होंने खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) को कुल्हड़ की मांग बढ़ने पर इसके बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए जरूरी इक्विपमेंट मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।


KVIC के चेयरमैन विनय सक्सेना ने PTI से बातचीत में कहा कि, पिछले साल कुल्हड़ बनाने के लिए 10,000 इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (मिट्टी के बर्तन बनाने वाला चॉक या पहिया)  बांटे गए थे और इस साल हमने 25,000 इलेक्ट्रिक व्हीकल्स बांटने का टारगेट रखा है।
2018 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय मिट्टी के बर्तन या Ceramic Industry में 26,000 करोड़ रुपये का बाजार है और SME में 50 फीसदी हिस्सेदारी है।  



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।