Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Covid-19 का असर: मूडीज ने FY 2020 के लिए भारत की ग्रोथ रेट 2.5% घटाया

पहले भारत की ग्रोथ रेट 5.3% रहने का अनुमान था लेकिन अब यह घटकर 2.5% रह सकता है
अपडेटेड Mar 29, 2020 पर 11:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने शुक्रवार को फिस्कल ईयर 2020 के लिए इंडिया के इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान में 2.5 फीसदी की कटौती कर दी है। पहले यह 5.3 फीसदी था लेकिन अब इसे घटाकर 2.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है।


मूडीज ने अपने ग्लोबल मैक्रो आउटलुक में कहा है, "भारत सरकार और साउथ अफ्रीका की सरकार ने 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया है। हमारा अनुमान है कि इससे दोनों देशों की अर्थव्यवस्था प्रभावित होगी। भारत के लिए हमारे ग्रोथ का अनुमान इस साल के लिए 2.5 फीसदी और अगले साल के लिए 5.8 फीसदी है।"


मूडीज ने कहा कि बैंकों और नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल सेक्टर्स (NBFC) पर दबाव के कारण नकदी संकट है। इससे इकोनॉमी में क्रेडिट फ्लो पहले ही कम है।


रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा था कि फिस्कल ईयर 2020 की चौथी तिमाही में रियल GDP ग्रोथ 4.7 फीसदी रहने का अनुमान था लेकिन अब इसे हासिल करना मुश्किल है। पूरे फिस्कल ईयर 2020 के लिए GDP ग्रोथ का अनुमान 5 फीसदी है।


दास ने कहा, "फिस्कल ईयर 2020-21 में कृषि और इससे जुड़ी दूसरी गतिविधियों पर भी महामारी का बुरा असर होगा। मैं एकबार फिर दोहराना चाहता हूं कि इसका असर बहुत ज्यादा होगा। अगर Covid-19 की वजह से सप्लाई चेन लंबे समय तक डिस्टर्ब रहती है तो ग्लोबल स्लोडाउन और गहरा होगा।"


इससे पहले क्रिसिल ने भी गुरुवार को फिस्कल ईयर 2020 के लिए ग्रोथ के अनुमान  5.2 फीसदी से घटाकर 3.5 फीसदी कर दिया था। 


ICRA ने भी फिस्कल ईयर 2020-2021 के लिए भारत के ग्रोथ का अनुमान 4.4 फीसदी से घटाकर 4.2 फीसदी कर दिया।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।