Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Coronavirus update: चीन में अब तक 1770 लोगों की मौत, इलाज और रोकथाम जारी

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के मुताबिक अब तक कुल 70,548 मामले सामने आए हैं और 1,770 लोगों की मौत हो चुकी है
अपडेटेड Feb 18, 2020 पर 11:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोनावायरस का संकट खत्म होने का नाम नही ले रहा है। सोमवार सुबह चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने सोमवार सुबह कहा है कि रविवार तक चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर अब 1770 हो गई है।


नेशनल हेल्थ कमीशन की रिपोर्ट के मुताबकि, रविवार को मेनलैंड चाइना में 2,048 नए संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस प्रकार कुल संक्रमित लोगों की 70,548 पहुंच गई है। जिनमें से 10,844 लोगों का इलाज करके अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।  


चीन के हुबेई प्रांत में कोरोनावायरस का प्रकोप सबसे अधिक है। रविवार को 94 फीसदी से अधिक नए मामले सामने आए हैं। जो कि एक दिन पहले के मुकाबले थोड़ा अधिक है। हुबोई प्रांत गिनती करने की रीति में संशोधन करने के बाद गुरुवार को 15,000 नए संक्रमित लोगों की घोषणा की है। हुबेई को पड़ोसी हेनन में रविवार को 3 लोगों की मौत हुई है। बाकी की 2 मौत दक्षिण पूर्व चीन के ग्वांगडोंग (Guangdong) में हुई। जो कि  हांगकांग के बगल में है।


पीएम मोदी ने दिया प्रशंसा पत्र


एयर इंडिया के दो स्पेशल फ्लाइट्स ने चीन से कई भारतीयों को बाहर निकाला। एयर इंडिया के 68 क्रू मेंबर ने चीन की वुहान सिटी से 647 भारतीयों और 7 मालदीव के लोगों को सुरक्षित निकाला गया। एयरइंडिया के इस सराहनीय कार्य को देखते हुए दिल्ली में एक समारोह के दौरान विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सभी क्रू मेंबर को पीएम मोदी के हस्ताक्षर युक्त प्रशंसा पत्र दिए गए।


क्रूज जहाज पर 99 वायरस संक्रमण की पुष्टि: रिपोर्ट


एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डायमंड प्रिंसेस (Diamond Princess) नाम के एक quarantined cruise शिप पर अतिरिक्त 99 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि की गई है।


चीन का कहना है कोरोना वायरस का है इलाज


चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन में अस्पताल प्रशासन की सुपरवाइजर गुओ यानहोंग (Guo Yanhong) ने कहा कि कोरोना वायरस का इलाज और रोकथाम दोनों है। जिसमें उन्होंने कहा कि वुहान में सबसे अधिक कोरोना वायरस का प्रकोप था। जहां बीमारी 38 फीसदी से घटकर 18 फीसदी पर आ गई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।