Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Police Vs Lawyers: SC ने वकीलों को लगाई फटकार, कहा- ताली एक साथ से नहीं बजती

कोर्ट ने कहा कि इस पूरे मामले में दोनों पक्षों की ओर से समस्या थी। ताली एक हाथ से नहीं बजती
अपडेटेड Nov 08, 2019 पर 17:50  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच हुई मारपीट पर आखिरकार शुक्रवार को टिप्पणी की। कोर्ट ने इस पूरे मामले पर वकीलों के रुख पर उन्हें फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा कि इस पूरे केस में दोनों पक्षों की ओर से दिक्कत पैदा की गई है।


बार काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन मनन मिश्रा ने शुक्रवार को कोर्ट में 2 नवंबर को तीस हजारी कोर्ट में पुलिस-वकीलों की भिड़ंत को लेकर पुलिस पर वकीलों के साथ बर्बरता से पेश आने का आरोप लगाया। इस पर कोर्ट ने कहा कि ताली एक हाथ से नहीं बजती।


जस्टिस संजय किशन कौल और केएम जोसेफ की बेंच ने कहा कि इस पूरे मामले में दोनों पक्षों की ओर से समस्या थी। ताली एक हाथ से नहीं बजती।


यह बहस शुक्रवार को कोर्ट में तब उठी, जब कोर्ट ओडिशा में वकीलों के स्ट्राइक पर एक याचिका पर सुनवाई कर रहा था।


News18 की रिपोर्ट के मुताबिक, इस सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल भी मौजूद थे। उन्होंने तीस हजारी कोर्ट में हुई हिंसा के बाज दिल्ली की अदालतों में जारी हड़ताल का जिक्र उठाया। लेकिन तभी मनन मिश्रा और सीनियर वकील विकास सिंह ने पुलिस के स्टैंड पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने वकीलों पर गोली चलाई थी और उनसे बदसलूकी की थी।


इस पर जस्टिस कौल ने कहा- अच्छा होगा कि हम इस पर कुछ न कहें। कभी-कभी हमारी चुप्पी ही सबसे बेहतर होती है। इस मामले में दोनों पक्षों की और से समस्या थी। कोई भी एक हाथ से ताली नहीं बजाता। हम इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहेंगे।


उन्होंने वकीलों से यह भी कहा कि आप इस तर्क के साथ कभी बहस नहीं कर सकते कि किसी ने  आपके साथ ऐसा बर्ताव किया तो आप भी वैसा ही बर्ताव करेंगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।