Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Delhi Violence: अमित शाह और LG के साथ हाई लेवल मीटिंग के बाद केजरीवाल ने कहा, 'सभी चाहते हैं हिंसा रुके'

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात की
अपडेटेड Feb 26, 2020 पर 09:13  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (National Register of Citizens) के समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई हिंसा के बीच तनाव बना हुई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister) की मीटिंग में हिस्सा लिया। शाह ने इस दौरान एक मीटिंग की, जिसमें दिल्ली के हालात का जायजा लिया गया और जरूरी कदमों पर चर्चा की गई।


शाह से मुलाकात के बाद केजरीवाल ने कहा- सभी चाहते हैं कि हिंसा पर रोक लगे। गृहमंत्री ने आज बैठक बुलाई थी, जो काफी सकारात्मक रही। मीटिंग में यह फैसला लिया गया है कि सभी राजनीतिक पार्टियां यह सुनिश्चित करेंगी कि शहर में शांति का माहौल कायम हो।


केजरीवाल ने आर्मी को बुलाए जाने के सवाल पर कहा कि जरूरत पड़ी तो आर्मी को बुलाएंगे। उन्होंने कहा- अगर जरूरत पड़ी तो उम्मीद करता हूं। लेकिन फिलहाल पुलिस एक्शन ले रही है। हमें मीटिंग में भरोसा दिलाया गया है कि जरूरत के हिसाब से पुलिस फोर्स तैनात होगी।


बता दें कि अमित शाह सोमवार देर रात को भी एक रिव्यू मीटिंग किया था। मंगलवार को उन्होंने दिल्ली सीएम केजरीवाल, गवर्नर अनिल बैजल, पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक, कांग्रेस लीडर सुभाष चोपड़ा, बीजेपी नेता मनोज तिवारी और रणबीर सिंह बिधूड़ी सहित कई अन्य अधिकारियों से मिले।


बता दें कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में पिछले दो दिनों में हुई हिंसा में अबतक सात लोगों को मौत हो गई है। रविवार और सोमवार को दिल्ली के कई इलाकों में CAA-NRC के समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसा भड़क गई थी, जिसके बाद कई इलाकों में महीने भर के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। मंगलवार को भी मौजपुर में दंगाइयों ने कई दुकानों और गाड़ियों में आग लगा दी। 


शाह की मीटिंग में हिस्सा लेने से पहले केजरीवाल ने बड़े अधिकारियों के साथ एक अहम मीटिंग की, जिसके बाद उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। केजरीवाल ने लोगों से राजधानी में शांति बनाए रखने की अपील की है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।