Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

मैच्योरिटी से पहले DHFL के 700 करोड़ के बॉन्ड बेचेगी EPFO

EPFO कर्मचारियों की सेविंग्स को बचाने के लिए इस बॉन्ड को मैच्योरिटी के पहले ही रिडीम कराना चाहता है
अपडेटेड Aug 14, 2019 पर 14:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Employees Provident Fund Organisation (EPFO) की नजर Dewan Housing Finance Corp. Ltd (DHFL) के 700 करोड़ के बॉन्ड पर है। ईपीएफओ कर्मचारियों की सेविंग्स को बचाने के लिए इस बॉन्ड को मैच्योरिटी के पहले ही रिडीम कराना चाहता है।


mint की रिपोर्ट के मुताबिक, EPFO के फाइनेंस इन्वेस्टमेंट कमिटी के मेंबर प्रभाकर बनसुरे ने बताया कि EPFO डीएचएफल के 10 साल के बॉन्ड्स जो कि 2024 में मैच्योर होंगे, उनका निवेश रिडीम करने के लिए वक्त से पहले एक्जिट ऑप्शन की राह लेगा।


बनसुरे ने बताया कि कंपनी के 1,300 करोड़ के बॉन्ड इन्वेस्टमेंट में से अभी तक 700 करोड़ बॉन्ड रिकवर नहीं हो पाया है। हालांकि, कंपनी ने इन्वेस्टमेंट वापस चुकाने का वादा किया है लेकिन फिलहाल कोई टाइमलाइन देना मुश्किल है।


इस इन्वेस्टमेंट के रिडेम्पशन के लिए जून महीने के मध्य से ही EPFO की इन्वेस्टमेंट कमिटी चार बार मीटिंग कर चुकी है। कमिटी अब तक दो बार DHFL के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श करके 201 करोड़ का निवेश रिडीम करा चुकी है।


EPFO ये एक्शन ऐसे वक्त में ले रहा है, जब वह पहले IL&FS से अपने 574 करोड़ का बॉन्ड इन्वेस्टमेंट रिकवर नहीं कर पा रहा। DHFL भी IL&FS के पेमेंट डिफॉल्ट्स की वजह से पैदा हुई लिक्विडिटी क्राइसिस के झटके का शिकार हुआ है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।