Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

EPFO पेंशनर्स का खत्म हुआ इंतजार, मिलेगी एकमुश्त पेंशन की रकम

EPS के नियम के मुताबिक, EPFO से जुड़े जो कर्मचारी 26 सितंबर 2008 से पहले रिटायर हो चुके हैं उन्हें उनकी पेंशन का अधिकतम एक तिहाई रकम एकमुश्त दी जा सकती है
अपडेटेड Jun 03, 2020 पर 08:39  |  स्रोत : Moneycontrol.com

EPFO पेंशनधारियों को अब पहले के मुकाबले ज्यादा पेंशन मिल सकेगा। एंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन (EPFO) ने 868 करोड़ रुपए का पेंशन जारी किया है। इसके साथ ही 105 करोड़ रुपए का एरियर जारी किया है। EPFO के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की सिफारिश पर सरकार ने कर्मचारियों की लंबी समय से चली आ रही मांग मान ली है। ये कर्मचारी पिछले 15 साल से पेंशन के कम्युटेड वैल्यू के रिस्टोरेशन की मांग करते आ रहे थे। कम्युटेड वैल्यू के मायने उस रकम से है जो पेंशन ऑब्लिगेशन को पूरा करने के लिए जरूरी है।


पहले कम्युटेड पेंशन के रिस्टोरेशन का कोई प्रावधान नहीं था। इसका नतीजा ये होता था कि पेंशनर्स को जीवन भर कम पेंशन ही मिलता रहता था। लेकिन अब EPFO के रिस्टोरेशन करने से 65 लाख पेंशनर्स को फायदा होगा। कोरोनवायरस संक्रमण के बावजूद EPFO ऑफिस पेंशन सही वक्त पर देने में जुटा है।


कैसे मिला पेंशन रिस्टोरेशन का फायदा?


सरकार ने इस साल फरवरी में इस रिस्टोरेशन को नोटिफाई किया था। EPFO पेंशनर्स को कम्युटेशन का एक विकल्प दिया गया था जिसके उनके मंथली पेंशन का एक हिस्सा एकमुश्त रकम में बदली जाती है और यह रकम रिटायरमेंट के बाद मिलता है। यानी कम्युटेशन का विकल्प चुनने वालों को मंथली पेंशन का एक हिस्सा हर महीने मिलेगा और दूसरा हिस्सा एकमुश्त रिटायरमेंट के बाद।


EPS के नियम के मुताबिक, EPFO से जुड़े जो कर्मचारी 26 सितंबर 2008 से पहले रिटायर हो चुके हैं उन्हें उनकी पेंशन का अधिकतम एक तिहाई रकम एकमुश्त दी जा सकती है। बाकी की दो तिहाई रकम मंथली पेंशन के तौर पर जीवन भर मिलती रहेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।