Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

अमेरिकी अर्थव्यवस्था में सुस्ती, फेड रिजर्व ने लगातार तीसरी बार रेट कट किया

अमेरिकी अर्थव्यवस्था में सुस्ती को देखते हुए फेडरल रिजर्व ने अपना रेट घटाकर 1.5 फीसदी से 1.75 फीसदी कर दिया है
अपडेटेड Oct 31, 2019 पर 18:00  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिकी अर्थव्यवस्था सुस्ती में फंस रहा है। हालात की गंभीरता को देखते हुए अमेरिकी फेड रिजर्व ने इस साल लगातार तीसरी बार रेट कट किया है। अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर पर कोई सहमति नहीं बन पाने से अमेरिकी अर्थव्यवस्था लगातार सुस्ती में घिर रही है।


ऐसे में फेडरल रिजर्व ने अपना रेट घटाकर 1.5 फीसदी से 1.75 फीसदी कर दिया है। इस रेट के हिसाब से अमेरिका में लोन, क्रेडिट कार्ड्स और दूसरी बॉरोइंग का रेट तय होता है।


फेड रिजर्व के चेयरमैन जीरोम पॉवेल ने बुधवार को जोर देकर कहा है कि फेड आगे रेट को स्थायी रख सकता है। उन्होंने कहा, "मॉडरेट इकोनॉमी ग्रोथ, मजबूत लेबर मार्केट और 2 फीसदी इनफ्लेशन रेट को देखते हुए मौजूदा लेवल सही है।" फेड रिजर्व के चेयरमैन ने कहा, अगर हालात बदलते हैं तो हम उसके हिसाब से फैसले लेंगे।


इकोनॉमी में ग्रोथ के दौरान रेट कट करना सामान्य नहीं है लेकिन ऐसा करना गलत भी नहीं है। इससे पहले फेड के पूर्व चेयरमैन एलन ग्रींसपैन ने भी 1995-1998 के बीच रेट कट किया था और उसे "इंश्योरेंस कट" कहा था। हालांकि इसके बाद फेड रिजर्व ने तुरंत रेट बढ़ा दिया था।


हालांकि अमेरिकी इकोनॉमी की ग्रोथ बढ़ने के बाद रेट बढ़ाने का मौका रहेगा। लेकिन पॉवेल ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि फेड हाल के दिनों में रेट बढ़ाने का फैसला ले सकता है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।