Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

वित्त मंत्री के पति का केंद्र पर निशाना, कहा- कांग्रेस के मॉडल पर सुधारें देश की इकोनॉमी

द हिंदू में वित्त मंत्री के पति पराकला प्रभाकर ने एक कॉलम लिखा है, जिसमें उन्होंने सरकार के रुख की आलोचना की है
अपडेटेड Oct 15, 2019 पर 08:57  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति पराकला प्रभाकर ने इकोनॉमिक स्लोडाउन पर मोदी सरकार की जोरदार आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि सरकार स्लोडाउन की वास्तविकता को नकार रही है, उसने इसकी तरफ से आंखें मूंद रखी हैं। प्रभाकर ने इसपर बकायदा एक कॉलम लिखा है।


द हिंदू में वित्त मंत्री के पति ने एक कॉलम लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा कि जब एक के बाद एक सेक्टर स्लोडाउन के चैलेंज से जूझ रहे हैं, ऐसे में बीजेपी सरकार अभी तक यह समझ पाने की स्थिति में नहीं दिख रही कि इस स्लोडाउन की वजह क्या है।


बीजेपी सरकार की आलोचना में प्रभाकर ने लिखा कि ऐसा लगता नहीं कि बीजेपी सरकार के पास इन चुनौतियों से निपटने का कोई रणनीतिक विज़न या योजना है। इस क्राइसिस को हैंडल करने के सरकार के तरीके की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास देश की अर्थव्यवस्था के लिए अपने साफ-स्पष्ट विचार बनाने की कोई इच्छा नहीं है।


उन्होंने इस कॉलम में बीजेपी के सोशलिज्म के नेहरूवियन मॉडल की आलोचना पर भी लिखा है। उन्होंने कहा कि इस मॉडल के प्रति बीजेपी का आलोचनात्मक रुख तो जाहिर है लेकिन इस पक्ष में उनकी वकालत भी कुछ हद तक पूंजीवादी और मुक्त बाजार ढांचे वाली करार दी जा सकती है, जो अभी तक व्यावहारिकता में नहीं उतारी जा सकी है।


उन्होंने यह भी लिखा कि सरकार की इकोनॉमिक आइडियोलॉजी और इसकी अभिव्यक्ति सबकुछ नेहरुवियन मॉडल की आलोचना तक ही सीमित थी। नेहरूवियन इकोनॉमिक फ्रेमवर्क पर बीजेपी का हमला बस राजनीतिक वार हो सकता है, इसे कभी अर्थव्यवस्था की आलोचना के तौर पर नहीं देखा जा सकता।


उन्होंने मोदी सरकार को सुझाव दिया कि वो पीवी नरसिम्हा राव-मनमोहन सिंह की आर्थिक नीति से सबक ले। उन्होंने कहा कि इस नीति पर चलकर इस धंसती इकोनॉमी को बेहतर स्थिति में लाया जा सकता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।