Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू की बढ़ सकती है मुश्किलें, 650 करोड़ रुपये के हेरफेर की आशंका

दोनों पुणे में शूटिंग कर रहे हैं और छापेमारी के दौरान होने वाली पूछताछ के तहत आयकर अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की
अपडेटेड Mar 05, 2021 पर 09:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) और अभिनेत्री तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) की मुश्किलें बढ़ सकती है। दोनों के घर बुधवार को हुई छापेमारी के दौरान इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बड़े पैमाने पर आयकर चोरी के सबूत मिलने की बात कही है। आयकर विभाग ने गुरुवार को कहा कि तापसी पन्नू, अनुराग कश्यप और उनके सहयोगियों से जुड़े विभिन्न स्थानों पर छापेमारी के दौरान गड़बड़ी और हेरफेर पाया गया है। एजेंसी ने कहा कि छापेमारी के दौरान बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी के सबूत मिले हैं।


फिल्म प्रोडक्शन फाउस फैंटम फिल्म्स ने बॉक्स ऑफिस पर जितने कलेक्शन की बात कही थी, उससे ज्यादा रकम की जानकारी मिली है। इसके अलावा फैंटम फिल्म्स के शेयर लेन-देन में भी हेरफेर के सबूत मिले हैं, जिसमें 650 करोड़ की टैक्स हेराफेरी की आशंका है। छापेमारी से सबंधित जानकारी देते हुए IT के एक अधिकारी ने कहा कि प्रोडक्शन हाउस का अधिकारी करीब 300 करोड़ रुपये का हिसाब देने में सक्षम नहीं था। इसके अलावा फैंटम फिल्म्स के शेयर लेन-देन में भी हेरफेर के सबूत मिले हैं, जिसमें 350 करोड़ की टैक्स गड़बड़ी की आशंका है। 


इसके अलावा तापसी के नाम पर पांच करोड़ की कैश रीसिप्ट प्राप्त हुई है, जिसके बारे में जांच की जा रही है। वहीं, एक और गड़बड़ी के सबूत मिले हैं, जो करीब 20 करोड़ की है। फिल्म प्रोडक्शन और डिस्ट्रिब्यूशन कंपनी फैंटम फिल्म्स को 2011 में अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानू, मधु मेंटेना और विकास बहल ने बनाया था। प्रोडक्शन हाउस कई बड़ी और सफल फिल्में बना चुका है। इसके बाद ये कंपनी 2018 में बंद हो गई। बता दें कि पन्नू और कश्यप, दोनों को कई मुद्दों पर अपने खुलकर अपने विचार रखने के लिए जाना जाता है।


दोनों पुणे में शूटिंग कर रहे हैं और छापेमारी के दौरान होने वाली पूछताछ के तहत आयकर अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की। आयकर विभाग ने तापसी पन्नू और अनुराग कश्यप समेत उनके साझेदारों के घरों और दफ्तरों पर बुधवार को छापेमारी की। अधिकारियों ने बताया कि यह छापेमारी फैंटम फिल्म्स के खिलाफ टैक्स चोरी की जांच का एक हिस्सा है। उन्होंने बताया कि यह छापेमारी मुंबई और पुणे में 30 स्थानों पर की गई, जिसमें रिलायंस एंटरटेनमेंट ग्रुप के सीईओ शुभाशीष सरकार तथा सेलिब्रिटी और प्रतिभा प्रबंधन कंपनी केडब्ल्यूएएन के कुछ अधिकारी भी शामिल हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।