Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

नीरव मोदी ने पांचवीं बार जमानत याचिका दायर की, 6 नवंबर को सुनवाई

नीरव मोदी ने अपनी ताजा अपील में बेचैनी और डिप्रेशन का जिक्र करते हुए जमानत मांगी है
अपडेटेड Oct 31, 2019 पर 09:05  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) को चूना लगा देश छोड़कर भागने वाले नीरव मोदी ने जमानत के लिए एक बार फिर याचिका दायर की है। नीरव मोदी पर करीब दो अरब डॉलर के घोटाले का आरोप है। भारत सरकार लगातार नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की कोशिश कर रही है। 48 साल के मोदी कई महीनों से लंदन की जेल में बंद हैं। 


नीरव मोदी ने अपनी ताजा अपील में बेचैनी और डिप्रेशन का जिक्र करते हुए जमानत मांगी है। प्रत्यर्पण वॉरंट पर मोदी को इस साल मार्च में गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद से जमानत का यह उसका पांचवां प्रयास है।


मोदी की नई जमानत याचिका पर लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत 6 नवंबर को सुनवाई करेगी। अदालत के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।


मुमकिन है कि नीरव मोदी वीडियो लिंक के जरिए अदालत में पेश होगा। यदि अदालत के अधिकारियों को जरूरी लगता है तो मोदी को व्यक्तिगत रूप से भी पेश किया जा सकता है।


ज्वैलरी कारोबारी नीरव मोदी के वकीलों ने पहले वैंड्सवर्थ जेल की खराब स्थिति का हवाला देते हुए भी जमानत मांगी थी।


पूर्व में मोदी की जमानत याचिका में उसके वकीलों ने अदालत के समक्ष पेश गोपनीय दस्तावेजों में उसकी खराब मानसिक स्थिति का भी हवाला दिया था।


जून में लंदन के रॉयल कोर्ट आफ जस्टिस में उनकी वकील क्लेयर मोंटगोमेरी ने कहा था कि नीरव मोदी कोई जघन्य अपराध करने वाला व्यक्ति नहीं है, जैसा कि भारत सरकार दावा कर रही है। वह एक ज्वैलरी डिजाइनर है और उसे ईमानदार, सावधान और भरोसेमंद माना जाता है।


उस समय अदालत ने मोदी की जमानत याचिक को खारिज करते हुए कहा था कि इस बात के पर्याप्त आधार हैं कि वह समर्पण नहीं करेगा क्योंकि उसके पास भागने की कई वजहें हैं।


हालांकि, मोदी के जमानत के लिए अपीलें दायर करने के लिए कोई सीमा तय नहीं है। अब उसकी एक और जमानत याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई होगी।


मोदी को 11 नवंबर को जेल से वीडियोलिंक के जरिए नियमित रिमांड के लिए वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश होना है। अदालत की सूची में यह तारीख अभी कायम है। मोदी को 19 मार्च को गिरफ्तार किया गया था। उसके बाद से वह दक्षिण-पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में बंद है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।