Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Terror Funding पर सबक! ब्लैकलिस्ट हुआ पाकिस्तान

टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के 11 इफेक्टिवनेस पैरामीटर्स में से 10 में पाकिस्तान की स्थिति खराब है
अपडेटेड Aug 24, 2019 पर 14:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के पैमानों पर खरा न उतरने के चलते पाकिस्तान ब्लैकलिस्ट हो गया है। टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग का ग्लोबल वॉचडॉग Financial Action Task Force (FATF) के एशिया-पैसेफिक ग्रुप (APG) ने पाकिस्तान को Enhanced Expedited Follow Up List (Blacklist) में डाला है। ग्रुप का कहना है कि पाकिस्तान मानकों पर खरा नहीं उतरा है।


भारतीय अधिकारियों ने बताया कि APG ने यह भी कहा है कि पाकिस्तान ने टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के 40 में से 32 मानकों का पालन नहीं किया।


FATF के APG की मीटिंग ऑस्ट्रेलिया के केनबरा में हुई और दो दिनों में सात घंटों तक चर्चा चली। मीटिंग के आउटकम को लेकर एक भारतीय अधिकारी ने शुक्रवार को पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट में डाले जाने की जानकारी दी।


टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के 11 इफेक्टिवनेस पैरामीटर्स में से 10 में पाकिस्तान की स्थिति खराब है। अधिकारी ने बताया कि खुद को इन पैरामीटर्स पर अपग्रेड कराने की कई कोशिशों के बावजूद पाकिस्तान 41 सदस्यीय पैनल को मना नहीं पाया।


अब पाकिस्तान के सामने FATF का 27 बिंदुओं के एक्शन प्लान पर ध्यान देना होगा, वर्ना उसे अक्टूबर 2019 में ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा। इस एक्शन प्लान की 15 महीनों की टाइमलाइन अक्टूबर में खत्म हो रही है।


बता दें कि पाकिस्तान ने पिछले हफ्ते ही 450 पेजों का एक दस्तावेज दिया था, जिसमें उसने पिछले डेढ़ सालों में पाकिस्तानी सरकार की ओर से आतंकी गुटों के खिलाफ गए कदम और कानूनों में किए गए बदलाव की जानकारी दी गई थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।