Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

नागरिकता का सबूत नहीं हो सकता PAN कार्ड: गुवाहाटी HC

गुवाहाटी हाईकोर्ट ने अपने एक आदेश में कहा है कि PAN कार्ड, जमीन या फिर बैंक के डॉक्यूमेंट्स भारतीय नागरिकता के सबूत नहीं हैं
अपडेटेड Feb 21, 2020 पर 10:34  |  स्रोत : Moneycontrol.com

गुवाहाटी हाईकोर्ट (Guahati High Court) ने अपने एक आदेश में कहा है कि PAN कार्ड, जमीन या फिर बैंक के डॉक्यूमेंट्स भारतीय नागरिकता के सबूत नहीं हैं। कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की। कोर्ट ने इसके साथ ही उस महिला की याचिका को खारिज कर दिया जिसने अपना नागरिकता दावा निरस्त करने के ट्रिब्यूनल के आदेश को चुनौती दी थी।


जस्टिस मनोजित भुइयां और जस्टिस पी जे सैकिया की बेंच ने याचिकाकर्ता जाबेदा बेगम की याचिका को खारिज कर दिया क्योंकि उसकी ओर से जमा किए गए दस्तावेज उसका संबंध उन लोगों से साबित नहीं कर पाए जिन्हें उसने अपना पिता या भाई बताया था।


जाबेदा ने अपनी नागरिकता साबित करने के लिए अपने पैन कार्ड और राशन कार्ड, दो बैंक पासबुक, पिता जाबेद अली का एनआरसी ब्योरा, माता-पिता के नाम की मतदाता सूचियां और कई लैंड रेवेन्यू रसीद सहित 14 दस्तावेज जमा किए थे।


बक्सा जिला स्थित  Foreigners Tribunal ने Superintendent of Police (Border) के संदर्भ के आधार पर जाबेदा को नागरिकता साबित करने के लिए पूर्व में नोटिस जारी किया था।


वह ट्रिब्यूनल के समक्ष पेश हुई और 14 दस्तावेजों के साथ अपना लिखित बयान दायर किया, जिसमें उसने दावा किया कि वह जन्म से भारतीय नागरिक है। ट्रिब्यूनल ने कहा कि ग्राम प्रधान को किसी व्यक्ति की नागरिकता के समर्थन में प्रमाणपत्र जारी करने का अधिकार नहीं है। इसने बैंक दस्तावेजों को भी खारिज कर दिया।


इसने कहा कि याचिकाकर्ता की ओर से बताए गए अपने माता-पिता से संबंध जोड़ने वाले दस्तावेज दायर करने में विफल रही, जिसके बाद जाबिदा ने ट्रिब्यूनल के आदेश के खिलाफ गुवाहाटी हाई कोर्ट में अपील दायर की।


कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि उसने ट्रिब्यूनल के आदेश की गहराई से समीक्षा की है और पाया है कि याचिकाकर्ता ने जिसे अपना माता-पिता बताया था, उसके साथ अपने संबंध साबित करने वाले दस्तावेज देने में असफल रही है।


बेंच ने कहा कि हाईकोर्ट पहले भी 2016 में एक दूसरे मामले में यह कह चुका है कि पैन कार्ड और बैंक दस्तावेज नागरिकता के सबूत नहीं हैं।


(एजेंसी से इनपुट)



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।