Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

संशोधित UAPA एक्ट के तहत आतंकवादी घोषित हुए हाफ़िज़ सईद, मसूद अज़हर और दाऊद इब्राहिम

गृह मंत्रालय ने बुधवार को इस कानून के एक्ट 3 के तहत एक इन सबको औपचारिक तौर पर आतंकवादी घोषित कर दिया
अपडेटेड Sep 05, 2019 पर 10:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

गृह मंत्रालय ने बुधवार को संशोधित Unlawful Activities (Prevention) Act (UAPA) के तहत जैश-ए-मुहम्मद चीफ मसूद अज़हर, लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज़ सईद, मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड ज़ाकिर उर रहमान लखवी और 1993 मुंबई बम ब्लास्ट के आरोपी दाऊद इब्राहिम को आतंकवादी घोषित किया गया है।


गृह मंत्रालय ने बुधवार को इस कानून के एक्ट 3 के तहत एक गजट नॉटिफिकेशन जारी करके इन इन सबको औपचारिक तौर पर आतंकवादी घोषित कर दिया। इसका मतलब है कि ये आतंकवादी किसी भी संगठन से हों, इन्हें भारतीय कानून के तहत आतंकवादी के तौर पर ही देखा जाएगा।


UAPA कानून में इस साल जुलाई में संशोधन किया गया था। यह कानून बनने से केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों और सरकार को संगठन के साथ-साथ किसी व्यक्ति को भी आतंकी संगठन घोषित करने और उनकी संपत्ति जब्त करने की शक्ति मिल गई है।


बता दें कि 1993 में मुंबई में हुए सीरियल बम ब्लास्ट का आरोपी दाउद इब्राहिम है। भारत की सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि वो पाकिस्तान के कराची में भारी सुरक्षा में रहता है। दाऊद हमले के बाद से ही भारत से बाहर है।


मसूद अजहर को यूनाइटेड नेशंस भी पहले ही ग्लोबल टेरेरिस्ट घोषित कर चुका है। मसूद 2001 के संसद हमले, पठानकोट एयरबेस हमले और पुलवामा अटैक का मास्टरमाइंड है।


वहीं, लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा जैसे आतंकी संगठन चलाने वाला हाफिज सईद मुंबई के 26/11 आतंकी हमले में शामिल रहा है। पाकिस्तान में रह रहा सईद भारत के खिलाफ षड़्यंत्र करता रहा है।


मुंबई के 26/11 आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है- ज़की-उर रहमान लखवी। जानकारी के मुताबिक, लखवी भी पाकिस्तान में ही रहता है। लखवी ने भारत पर सबसे बड़े आतंकी हमले का पूरा प्लान रचा था और हमले तक आतंकियों के संपर्क में रहकर उन्हें इंस्ट्रक्ट कर रहा था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।