Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

हम सभी Google पर अपने फुटप्रिंट छोड़ते हैं, ऐसे में जानिए अपना डेटा कैसे बचाना है

यूजर्स के पास सुविधा है कि वो कन्फिगर कर सकें कि उनका डेटा अपने आप तीन महीने या 18 महीने के बाद ऑटोमेटिकली डिलीट हो जाए
अपडेटेड Oct 16, 2019 पर 09:05  |  स्रोत : Moneycontrol.com

हम इंटरनेट पर तब भी मौजूद होते हैं, जब हम ऑनलाइन नहीं होते हैं। सर्च इंजन गूगल हमारी लगभग हर एक्टिविटी पर नजर रखता है। Google के पास हमारी पूरी वेब हिस्ट्री होती है। Google Services जैसे maps या सर्च ब्राउज़र ऐसे ही इसके दूसरे प्लेटफॉर्म्स हमारी वेब हिस्ट्री ट्रैक करते हैं, और अपने रेकमेंडेशन वगैरह इवॉल्व करते हैं।


पहले यूजर्स को यह सारा डेटा मैनुअली डिलीट करना होता था या फिर पूरी तरह से टर्न ऑफ करना होता था। इससे गूगल अपने रेकेमेंडेशन वगैरह भी आपके हिसाब से चेंज नहीं कर सकता था। लेकिन गूगल इस साल ऐसा फीचर लेकर आया, जिसमें आप खुद तय कर सकते हैं कि आपका डेटा ऑटोमेटिकली डिलीट हो जाए।


गूगल के इस फीचर में यूजर्स को सुविधा दी गई है कि वो कन्फिगर कर सकें कि उनका डेटा अपने आप तीन महीने या 18 महीने के बाद ऑटोमेटिकली डिलीट हो जाए।


इसके लिए आपको कुछ स्टेप्स फॉलो करने होंगे-


- सबसे पहले आपको अपने गूगल अकाउंट पर जाना होगा और लॉगइन करना होगा। इसके लिए आप इस लिंक पर जा सकते हैं-  myaccount.google.com


- बायीं ओर के पैनल पर Data & Personalization के ऑप्शन को चुनें।


- Web & App Activity के ऑप्शन पर क्लिक करें.


- Manage Activity पर क्लिक करें।


- Choose to delete automatically को सेलेक्ट करें।


- आपके सामने keep until I delete के अलावा तीन महीने और 18 महीने का ऑप्शन होगा। इनमें से आप कोई भी ऑप्शन चुन सकते हैं।


आमतौर पर डेटा प्रोटेक्शन के लिए सबसे सही ऑप्शन तीन महीने का ही होगा, लेकिन आप अपनी समझ के अनुसार विकल्प चुन सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।