Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

गूगल-एपल के ऐप स्टोर से हटेगा TikTok

प्रकाशित Tue, 16, 2019 पर 13:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत में चीनी वीडियो शेयरिंग एप्लीकेशन टिक टॉक को राहत मिलती हुई नहीं दिखाई दे रही है। सुप्रीम कोर्ट के बैन को नहीं रोकने के फैसले के बाद अब भारत सरकार की ओर से गूगल और एपल को भी इसपर एक्शन लेने को कहा गया है।
न्यूज18 की खबर के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री ने गूगल और एपल से उनके ऐपस्टोर से टिक टॉक को हटाने को कहा है। अभी एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने टिक टॉक की ओर से बैन पर स्टे लगाने की अपील को खारिज किया था।


बता दें कि टिक टॉक सुप्रीम कोर्ट में मद्रास हाईकोर्ट के 3 अप्रैल के उस आदेश को लेकर पहुंचा था, जिसमें इस ऐप पर बैन लगाया गया है।


मद्रास हाईकोर्ट की मदुरई बेंच ने 3 अप्रैल को सरकार को देश में टिक टॉक ऐप को डाउनलोड करने पर रोक लगाने का निर्देश दिया था। इसके बाद ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा, जहां बैन पर स्टे लगाने की अपील की गई। सुप्रीम कोर्ट ने ये कहते हुए ये अपील खारिज कर दी कि अभी ये मामला कोर्ट के अधीन है, इसलिए वो इस पर फैसला नहीं दे सकता। कोर्ट ने कहा कि वो इसकी सुनवाई 22 अप्रैल को करेगा।


उधर, टिक टॉक ने इस आदेश को असंगत और भेदभावपूर्ण बताया है। टिक टॉक का अपने पक्ष में कहना है कि उसका इस बात पर कोई कंट्रोल नहीं है कि उसके प्लेटफॉर्म पर थर्ड पार्टी की ओर से क्या कंटेंट डाला जाता है।


टिक टॉक की ओर से एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा गया है कि उन्हें भारतीय न्याय व्यवस्था और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के इंटरमीडियरीज गाइडलाइंस रूल्स, 2011 पर भरोसा है और कंपनी अपने यूजर्स को लेकर प्रतिबद्ध है। कंपनी ने कहा कि वो ऐसे कंटेंट रिव्यू करके डिलीट कर रही है, जिन्होंने उसके टर्म्स ऑफ यूज और कम्यूनिटी गाइडलाइंस का उल्लंघन किया है।