Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

अगस्त में सर्विस सेक्टर में भी गिरावट, PMI गिरकर 52.4 पर आया

जिन 5 सब-सेक्टर के आधार पर यह सर्वे हुआ है उनमें से 4 में ग्रोथ बरकरार है
अपडेटेड Sep 04, 2019 पर 15:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इस साल अगस्त में भारत के सर्विस सेक्टर की एक्टिविटी में भी नरमी आई है। बुधवार को प्राइवेट सर्वे के मुताबकि, IHS Markit India Services Purchasing Managers Index (PMI) अगस्त में घटकर 52.4 पर आ गया है। इससे पहले यह जुलाई में 53.8 था। PMI इंडेक्स का 50 से नीचे जाने का मतलब स्लोडाउन है।


इस सर्वे की रिपोर्ट से पता चलता है कि जिन कंपनियों को सरकार की नई पॉलिसी से फायदा हुआ है वो टेक्नोलॉजी को बेहतर बना रही हैं और नए बिजनेस हासिल कर रही हैं।


जिन 5 सब-सेक्टर के आधार पर यह सर्वे हुआ है उनमें से 4 में ग्रोथ बरकरार है। इसमें सिर्फ एक रियल एस्टेट एंड बिजनेस सर्विसेज सेक्टर ही नीचे रहा।


PMI मैन्युफैक्चरिंग का आंकड़ा भी गिरा


इससे पहले सोमवार को PMI मैन्युफैक्चरिंग के डाटा आए थे। उससे पता चला कि अगस्त में PMI मैन्युफैक्चरिंग घटकर 15 महीनों के निचले लेवल पर आ गया।


लागत बढ़ने और डिमांड घटने की वजह से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ में कमी आई है। सोमवार को जारी निक्केई मैन्युफैक्चरिंग परचेज मैनेजर्स इंडेक्स (PMI) के सर्वे के मुताबिक,  जुलाई में PMI इंडेक्स घटकर 51.4 पर आ गया है।


PMI के कमजोर आंकड़े ऐसे समय में आ रहे हैं जब जून तिमाही में GDP की ग्रोथ घटकर 5 फीसदी पर आ गई है। इससे पहले मार्च तिमाही में GDP की ग्रोथ 5.7 फीसदी थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।