Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

सितंबर में भी IIP की ग्रोथ घटी, 4.3 फीसदी रही गिरावट

इंडस्ट्रियल आउटपुट या फैक्ट्री आउटपुट से देश की आर्थिक गतिविधियों का अंदाजा लगाया जाता है
अपडेटेड Nov 12, 2019 पर 13:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इंडिया के औद्योगिक उत्पादन (IIP) में सितंबर 2019 में भी गिरावट दर्ज की गई है। महीन-दर-महीना के आधार पर सितंबर 2019 में IIP की ग्रोथ 4.3 फीसदी घट गई है। इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) के आंकड़े सरकार ने 11 नवंबर को जारी किए हैं।


अगस्त में IIP की ग्रोथ में 1.1 फीसदी की गिरावट आई थी। इंडस्ट्रियल आउटपुट या फैक्ट्री आउटपुट से देश की आर्थिक गतिविधियों का अंदाजा लगाया जाता है।


मैन्युफैक्चरिंग आउटपुट सितंबर 2019 में 3.9 फसदी घटा है। कुल इंडेक्स में मैन्युफैक्चरिंग की हिस्सेदारी तीन चौथाई है। अगस्त के दौरान इसमें 1.2 फीसदी की कमी आई थी।


सितंबर 2019 मे माइनिंग की ग्रोथ 8.5 फीसदी गिरी। जबकि एक महीना पहले अगस्त में इसकी ग्रोथ 0.1 फीसदी थी।


सितंबर में प्राइमरी प्रोडक्ट्स 5.1 फीसदी घटा जबकि अगस्त में इसकी ग्रोथ 1.1 फीसदी थी। सितंबर में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ 20.7 फीसदी घट गई है। कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल की ग्रोथ सितंबर में 9.9 फीसदी गिर गई। एक महीना पहले इसकी ग्रोथ 4.1 फीसदी थी।


अप्रैल-जून तिमाही में 8 इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर की ग्रोथ औसतन 3.6 फीसदी थी। इस दौरान निर्यात में 1.7 फीसदी की गिरावट रही।


अप्रैल से जून 2019 के दौरान भारत की GDP ग्रोथ 5 फीसदी रही। फिस्कल ईयर 2018-19 की इसी तिमाही में GDP ग्रोथ 8 फीसदी थी।


मूडीज से 7 नवंबर को इंडिया की रेटिंग "स्टेबल" से घटाकर "नेगेटिव" कर दिया था। मूडीज ने कहा था कि आर्थिक ग्रोथ घटने की आशंका से रेटिंग घटाई जा रही है।  



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।