Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

मई के अंत तक जारी रह सकती है कोरोना की सेकंड वेब, एक दिन में आ सकते हैं 3 लाख केस: रिपोर्ट

एक टॉप वायरोलॉजिस्ट के मुताबिक, देश को अभी कोरोना वायरस की दूसरी लहर से राहत मिलने में और समय लगेगा
अपडेटेड Apr 15, 2021 पर 10:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश में कोरोना वायरस महामारी (COVID second wave) का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। अब रोजाना संक्रमण के नए मामलों का आंकड़ा दो लाख के करीब तक पहुंच गया है। वहीं, इस साल पहली बार कोरोना से रोजाना मौत का आंकड़ा भी हजार के पार हो गया है। इस बीच, एक टॉप वायरोलॉजिस्ट (Virologist) के मुताबिक, देश को अभी कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Second Wave) से राहत मिलने में और समय लगेगा।


न्यूज 18 के मुताबिक, वायरोलॉजिस्ट डॉ. शाहिद जमील (Virologist Dr. Shahid Jameel) का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर मई महीने के आखिरी तक रह सकती है और हर दिन नए संक्रमण का आंकड़ा तीन लाख तक पहुंच सकता है।


जमील ने न्यूज 18 से बातचीत में कहा कि नए मामलों की संख्या में जिस रफ्तार से बढ़ोतरी हो रही है वह वाकई में डराने वाली है। अगर आप एक्टिव केस ग्रोथ की तरफ देखें तो ये तकरीबन हर दिन 7 फीसदी की रफ्तार से बढ़ रही है।


उन्होंने कहा कि ये प्रतिशत बहुत ज्यादा है। अगर यही रफ्तार रही तो हम हर दिन तीन लाख की संख्या तक पहुंच सकते हैं। ऐसा कुछ मॉडल्स में भी बताया गया है। डॉ. जमील का कहना है कि नए म्यूटेंट निश्चित तौर पर अधिक संक्रमणकारी हैं, लेकिन इससे होने वाली मौतों का कोई आंकड़ा मौजूद नहीं है।


वैक्सीन की कमी के दावों को किया खारिज


हालांकि, डॉ. जमील ने भारती में कोरोना वैक्सीन की कमी के दावों को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) अकेले एक महीने में 5 से 6 करोड़ डोज तैयार कर सकता है। इसी तरह भारत बायोटेक (Bharat Biotech) भी दो से तीन करोड़ डोज बना सकता है।


वायरोलॉजिस्ट ने कहा कि अगर आप सार्वजनिक डेटा की तरफ देखें तो भारत की इन दोनों कंपनियों ने अब तक 31-32 करोड़ वैक्सीन डोज बनाए हैं। जिनमें से अब तक करीब 12 करोड़ डोज भारत में इस्तेमाल हुए हैं और करीब 65 लाख डोज बाहर भेजे गए हैं। उन्होंने कहा कि इसके हिसाब से तो भारत के पास अब भी करीब 10 करोड़ डोज बाकी होने चाहिए। इसलिए वैक्सीन की कमी तो नहीं दिखती।


अक्टूबर के बाद एक दिन में सबसे ज्यादे मामले आए


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार के आंकड़ों के मुताबिक, संक्रमण के कुल मामले 1,38,73,825 हो गए हैं जबकि 13 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं। मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में 1,027 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या 1,72,085 हो गई है जो 18 अक्टूबर, 2020 के बाद सबसे ज्यादा है।


लगातार 35वें दिन मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है और संक्रमित लोगों की संख्या 13,65,704 हो गई है जो कुल मामलों का 9.84 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर घटकर 88.92 प्रतिशत हो गई है। इससे पहले 12 फरवरी को संक्रमित लोगों की सबसे कम संख्या 1,35,926 थी और 18 सितंबर 2020 को सबसे ज्यादा 10,17,754 थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.