Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

चीन से निकलने वाली कंपनियों को लुभाने के लिए भारत दे रहा है ये इंसेंटिव

प्रकाशित Tue, 25, 2019 पर 16:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिका-चीन के बीच बढ़ते ट्रेड वॉर से इंडिया फायदा लेने की कोशिश कर रहा है। इस मामले की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने बताया कि भारत कंपनियों को चीन छोड़कर भारत आने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। इसके लिए भारत सरकार कई तरह के इंसेंटिव भी ऑफर कर रही है।


बिजनेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत सरकार इन कंपनियों को प्रीफरेंशियल टैक्स रेट्स और वियतनाम की तरफ टैक्स हॉलिडे सहित कई दूसरी तरह की छूट देने पर विचार कर रही है। सरकार जिन इंडस्ट्रीज को छूट देना चाहती है उनमें इलेक्ट्रॉनिक्स, कंज्यूमर अप्लाएंसेज, इलेक्ट्रिक व्हीकल, फुटवीयर और टॉय हैं।


वियतनाम और मलेशिया जैसे देशों में काफी विदेशी निवेश आया है। लेकिन भारत पहले इस मौके भुनाने से चूक गया। ऐसे में भारत की कोशिश है कि ट्रेड वॉर से फायदा लेते हुए आयात घटाकर निर्यात पर फोकस बढ़ाया जाए। हालांकि इस मामले में ट्रेड मिनिस्ट्री ने कोई बयान देने से इनकार कर दिया है।


इसके अलावा सरकार अफोर्डेबल इंडस्ट्रियल जोन शुरू करने और सरकारी खरीद में लोकल मैन्युफैक्चर कंपनियों को तरजीह दी जाएगी। सरकार की इस योजना से देश का मैन्युफैक्चरिंग बेस बढ़ेगा। इससे नरेंद्र मोदी की फ्लैगशिप योजना मेक इन इंडिया को भी मजबूती मिलेगी। सरकार का मकसद अपनी इस योजना के जरिए 2020 तक मैन्युफैक्चरिंग की ग्रोथ 25 फीसदी तक बढ़ाना है।


सरकार ने 150 ऐसे प्रोडक्ट्स की भी पहचान की है जिनका निर्यात चीन को किया जा सकता है। इनमें प्रीजर्व्ड पोटैटो, पोलिस्टर के सिंथेटिक स्टैपल फाइबर और टीशर्ट्स, हाइड्रोलिक पावर इंजन और मोटर्स के सुपर चार्जर हैं।