Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

ITR फाइलिंग: शेयरों पर मुनाफा हुआ तो LTGC टैक्स चुकाना हुआ आसान

प्रकाशित Tue, 18, 2019 पर 17:40  |  स्रोत : Moneycontrol.com

CBDT (सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स) ने 14 जून को लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स (LTCG) के डिस्क्लोजर को आसान बनाया था। फिस्कल ईयर 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हुए शेयरों से हुए प्रॉफिट पर लगने वाले LTCG टैक्स का खुलासा अब पहले से बहुत आसान है।


अभी तक इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हुए हर शेयर से होने वाले प्रॉफिट का खुलासा अलग-अलग करना पड़ता था। लेकिन CBDT ने अब साफ कर दिया कि अलग-अलग शेयरों के लिए अब एकसाथ डिस्क्लोजर दिया जा सकता है। इससे टैक्स फाइलिंग आसान हो जाएगी।


मौजूदा नियमों के मुताबिक, अगर आपको शेयरों से 1 लाख रुपए से ज्यादा प्रॉफिट हुआ है तो फिस्कल ईयर 2018-19 में LTCG टैक्स चुकाना होगा।   फाइनेंस बिल 2018 में LTGC टैक्स को दोबारा पेश किया गया था। यह 1 अप्रैल 2018 से लागू है। अगर कोई शेयर आपके पास 12 महीने से ज्यादा लंबे वक्त के लिए है तो उसके बेचने पर जो मुनाफा होगा, उसपर आपको LTGC टैक्स चुकाना होगा। 1 लाख रुपए के कैपिटल गेन पर कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ता है। अगर आपका कैपिटल गेन 1 लाख रुपए से ज्यादा होता है तो आपको 10 फीसदी टैक्स चुकाना पड़ेगा।