Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

JNU Protest पर बोले VC- जोर जबरदस्ती से नहीं हो सकती बातचीत

छात्रों के प्रदर्शन के बीच गुरुवार को कैंपस में कई जगहों पर मूर्तियों के साथ छेड़छाड़ और दीवालों पर पेंट से नारे लिखे गए हैं
अपडेटेड Nov 16, 2019 पर 10:59  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Jawaharlal Nehru University के कुलपति एम जगदीश कुमार ने फीस हाइक पर स्टूडेंट्स के प्रोटेस्ट पर आखिरकार छात्रों से इसे खत्म करने की अपील की। इस अपील के साथ उन्होंने यह भी कहा कि जोर जबरदस्ती और अवैध तरीके से संवाद नहीं किया जा सकता है। छात्रों के प्रदर्शन के बीच गुरुवार को कैंपस में कई जगहों पर मूर्तियों के साथ छेड़छाड़ और दीवालों पर पेंट से नारे लिखे गए हैं, जिसके बाद वीसी का बयान आया है।


कुलपति ने यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स से भी अनुरोध किया कि वे असंतुष्ट छात्रों से आंदोलन को खत्म करने की अपील करें क्योंकि कैंपस के उन हजारों छात्रों की पढ़ाई में बाधा पैदा हो रही है, जो अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं।


उन्होंने कहा- जेएनयू प्रशासन हमेशा बातचीत और चर्चा के जरिए मुद्दों को सुलझाना पसंद करता आया है, लेकिन इस तरह की किसी भी बातचीत की प्रक्रिया और रूप को जबरदस्ती और अवैध तरीकों से तय नहीं किया जा सकता। इस तरीके से किसी भी संवाद का फायदा नहीं होगा।


बता दें कि छात्रों के दो हफ्तों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले ऐसे छात्रों की हॉस्टल फीस की बढ़ोत्तरी को वापस ले लिया है जिनके पास कोई स्कॉलरशिप नहीं है। हालांकि, छात्रों ने इसे धोखा करार दिया है। छात्रों का कहना है कि यह कटौती नाकाफी है, उन्होंने डीन को बर्खास्त करने की मांग की है।


छात्रों का विरोध नए हॉस्टल मैनुअल को लेकर है, जिस इंटर-हॉल एडमिनिस्ट्रेशन ने अप्रूव किया था। इसके तहत छात्रों का आरोप था कि उनकी फीस 300 फीसदी ज्यादा बढ़ा दी गई है। इसके अलावा छात्र यूनिवर्सिटी में ड्रेस कोड और टाइम रिस्ट्रिक्शन को लेकर भी विरोध जता रहे हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।