Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Kulbhushan Jadhav Case: ICJ में भारत की जीत, मिला काउंसुलर एक्सेस

अब भारत जाधव का पक्ष रखने के लिए अपना वकील दे पाएगा।
अपडेटेड Jul 17, 2019 पर 18:44  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इंटरनेशन कोर्ट ऑफ जस्टिस में भारत को कुलभूषण जाधव मामले में बड़ी जीत मिली है। कोर्ट में 15-1 के वोट से भारत के पक्ष में फैसला आया है। कोर्ट ने भारत को इस मामले में काउंसुलर एक्सेस दे दिया है। अब भारत जाधव का पक्ष रखने के लिए अपना वकील दे पाएगा।


वहीं, कोर्ट ने कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान मिलिट्री की ओर से सुनाई गई मौत की सजा पर दोबारा विचार करने को कहा है।


कोर्ट के फैसले के मुताबिक, कुलभूषण जाधव की फांसी पर लगी रोक जारी रहेगी। कोर्ट ने जाधव को दूतावास की सभी सुविधाएं मुहैया कराने का आदेश दिया है।


कोर्ट ने ये भी कहा पाकिस्तान ने विएना संधि का उल्लंघन किया है।


क्या है मामला?


बता दें कि कुलभूषण जाधव रिटायर्ड इंडियन नेवी ऑफिसर हैं, जिन्हें पाकिस्तानी मिलिट्री कोर्ट ने जासूसी और आंतकवाद के आरोप में अप्रैल, 2017 में मौत की सजा सुनाई थी। भारत इसके खिलाफ इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में इस तर्क के साथ पहुंचा कि पाकिस्तान भारत को विएना कन्वेंशन के मुताबिक, काउंसुलर एक्सेस नहीं दे रहा है। इसपर पाकिस्तान का कहना था कन्वेंशन की गाइडलाइंस जासूसों पर लागू नहीं होतीं।


इस पर भारत का तर्क है कि कुलभूषण जाधव नेवी से रिटायर हो चुके हैं और अपना कारोबार करते हैं। भारत का कहना है कि पाकिस्तान ने ईरान से उनका अपहरण किया है, जहां पर वो अपने कारोबार के सिलसिले में गए थे।


कोर्ट का फैसला आने के बाद पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसका स्वागत किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि इस केस को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में ले जाने के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की प्रशंसा करती हूं।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुलभूषण जाधव मामले में अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि ये सत्य और न्याय की जीत है। हम ICJ के आज के फैसले का हम स्वागत करते हैं। सत्य और न्याय की जीत हुई है। तथ्यों के विस्तृत अध्ययन पर फैसला देने के लिए ICJ को बधाई। मुझे भरोसा है कि कुलभूषण जाधव को न्याय मिलेगा। हमारी सरकार हमेशा हर भारतीय की सुरक्षा और कल्याण के लिए काम करेगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसे भारत की बड़ी जीत बताया है। मोदी सरकार में मंत्री बाबुल सुप्रियो ने भी फैसले पर खुशी जताई है। कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री अश्विनी कुमार ने भी फैसले को बड़ी जीत बताया है।


वरिष्ठ वकील उज्जवल निकम ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के फैसले के बाद अब कुलभूषण जाधव पर नए सिरे से मुकदमा चलाना होगा और उनकी सजा पर पुनर्विचार होगा