Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

तय सीमा से ज्यादा कैश कराना होगा मुश्किल, आधार ऑथेंटिकेशन होगा

सरकार अब आधार ऑथेंटिकेशन को अनिवार्य बना रही है जिसे बायोमीट्रिक या वन टाइम पासवर्ड के जरिए ऑथेंटिकेट किया जाएगा
अपडेटेड Jul 22, 2019 पर 13:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बैंक में ज्यादा कैश जमा करवाना अब आपके लिए मुश्किल पैदा कर सकता है। अभी तक सिर्फ PAN कार्ड दिखाकर ही बैंक खाते में ज्यादा कैश निवेश किया जा सकता था। लेकिन अब ऐसा नहीं रहेगा। अगर आप अपनी सालाना सीमा से ज्यादा कैश जमा करते या निकालते हैं तो आपको PAN के साथ ही आधार ऑथेंटिकेशन कराना होगा।


सरकार की इस कोशिश का मकसद इकोनॉमी में करेंसी के फ्लो को कम करना है। सरकार अब आधार ऑथेंटिकेशन को अनिवार्य बना रही है। इसे बायोमीट्रिक या वन टाइम पासवर्ड के जरिए ऑथेंटिकेट किया जाएगा।


सरकार ने फाइनेंस बिल में कुछ संशोधन किया है। इसके मुताबिक, तय सीमा से ज्यादा फॉरेन एक्सचेंज जैसे कई हाई वैल्यू ट्रांजैक्शन के लिए अभी तक PAN की जरूरत थी। अगर आप बहुत ज्यादा कैश जमा करते हैं तो अब सिर्फ पैन या आधार की कॉपी से बात नहीं बनेगी।


टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, एक सरकारी सूत्र ने बताया कि हम चाहते हैं कि लोग एक तय सीमा से ज्यादा कैश नहीं निकाले। हालांकि यह सीमा क्या होगी, यह अभी तय नहीं किया गया है। मुमकिन है कि 20-25 लाख रुपए जमा कराने या निकालने पर आधार ऑथेंटिकेशन कराना पड़ सकता है।


सूत्रों का कहना है कि जाली PAN के जरिए कई कैश जमा कराने की कई घटनाएं हैं। आधार ऑथेंटिकेशन लागू होने के बाद इन पर पूरी तरह रोक लग जाएगी।


बैंक में ज्यादा कैश जमा करवाना अब आपके लिए मुश्किल पैदा कर सकता है। अभी तक सिर्फ PAN कार्ड दिखाकर ही बैंक खाते में ज्यादा कैश निवेश किया जा सकता था। लेकिन अब ऐसा नहीं रहेगा। अगर आप अपनी सालाना सीमा से ज्यादा कैश जमा करते या निकालते हैं तो आपको PAN के साथ ही आधार ऑथेंटिकेशन कराना होगा।


सरकार की इस कोशिश का मकसद इकोनॉमी में करेंसी के फ्लो को कम करना है। सरकार अब आधार ऑथेंटिकेशन को अनिवार्य बना रही है। यह बायोमीट्रिक या वन टाइम पासवर्ड के जरिए इलेक्ट्रॉनिक -KYC करके किया जा सकता है।


सरकार ने फाइनेंस बिल में कुछ संशोधन किया है। इसके मुताबिक, तय सीमा से ज्यादा फॉरेन एक्सचेंज जैसे कई हाई वैल्यू ट्रांजैक्शन के लिए अभी तक PAN की जरूरत थी। अगर आप बहुत ज्यादा कैश जमा करते हैं तो अब सिर्फ पैन या आधार की कॉपी से बात नहीं बनेगी।


टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, एक सरकारी सूत्र ने बताया कि हम चाहते हैं कि लोग एक तय सीमा से ज्यादा कैश नहीं निकाले। हालांकि यह सीमा क्या होगी, यह अभी तय नहीं किया गया है। मुमकिन है कि 20-25 लाख रुपए जमा कराने या निकालने पर आधार ऑथेंटिकेशन कराना पड़ सकता है।


सूत्रों का कहना है कि जाली PAN के जरिए कई कैश जमा कराने की कई घटनाएं हैं। आधार ऑथेंटिकेशन लागू होने के बाद इन पर पूरी तरह रोक लग जाएगी।