Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Lockdown 4.0: रेड ज़ोन में भी डिलीवरी दे पाएंगी ई-कॉमर्स कंपनियां

लॉकडाउन 4.0 में गृह मंत्रालय ने रेड जोन में भी गैर आवश्यक सामानों की डिलिवरी करने की मंजूरी दे दी है
अपडेटेड May 18, 2020 पर 15:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश में कोरोना काल चलने से लॉकडाउन घोषित किया गया है। आज 18 मई से 31 मई तक के लिए लॉकडाउन 4.0 लागू कर दिया गया है। इस लॉकडाउन-4 में कई तरह की ढील दी गई है। जिसमें गृह मंत्रालय ने रेड जोन में भी ई-कॉमर्स (E-Commerce) कंपनियों के जरिए गैर जरूरी सामान मंगाने की छूट दे दी है। यानी अब आप फ्लिपकार्ट (Flipkart) अमेजॉन (Amazon) जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों से कूलर, पंखा, फ्रिज, टीवी, मोबाइल मंगा सकते हैं।


इस मामले ई-कॉमर्स कंपनियां पूरी सर्विस देने के लिए तैयार हैं। फिलहाल उन्हें इसकी मंजूरी के लिए राज्य सरकार से गाइडलाइंस मिलने का इंतजार है। 


गृह मंत्रालय (MHA) ने लॉकडाउन-4 में  कंटेनमेंट जोन को छोड़कर कई तरह की गतिविधियों को खोलने की अनुमति दे दी है। वहीं कंटेनमेंट जोन में केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति दी गई है। कंटेनमेंट जोन घोषित करने का अधिकार राज्य सरकारों को दिया गया है। जबकि केंद्र शासित प्रदेशों में प्रशासन को दिया गया है।


इस संबंध में अमेजॉन और फ्लिपकार्ट को भेजे गए ईमेल का जवाब नहीं मिला है।


ई-कॉमर्स को ढील दिए जाने के मामले में पेटीएम (PayTm) मॉल के सीनियर विस प्रेसीडेंट श्रीनिवास मोठे (Srinivas Mothey) ने कहा कि सरकार के इस फैसले से कंपनी को रेड जोन में पड़ने वाले अधिकतर बड़े सहरों के कई इलाकों में डिलिवरी करने में मदद मिलेगी।


स्नैपडील (Snapdeal) के प्रवक्ता (spokesperson) ने कहा कि गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस से अधिकतर इलाकों में आर्थिक गतिविधियां फिर से शुरू करने में मदद मिलेंगी। उन्होंने आगे कहा कि हम रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में भारत में ग्राहकों की सेवा करने के लिए तैयार हैं।


बता दें कि 4 मई से ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल ऑरेंज और ग्रीन जोन में गैर जरूरी सामानों को पहुंचाने की अनुमति दे दी गई थी। हालांकि शहरी इलाकों के ज्यादातर हिस्से रेड जोन में हैं, लिहाजा वहां गैर जरूरी सामानों की आपूर्ति नहीं की गई। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।