Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

मराठा आरक्षण के मुद्दे पर CM उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल से की मुलाकात, PM मोदी से भी मिलेंगे

सीएम ने कहा कि मराठा समुदाय को शिक्षा में 12 फीसदी और नौकरी में 13 फीसदी आरक्षण मिलनी चाहिए
अपडेटेड May 12, 2021 पर 08:24  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अगुवाई में महाविकास अघाड़ी (MVA) ने मराठा आरक्षण (Maratha Reservation) के मुद्दे पर मंगलवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। सीएम ने राज्यपाल को एक पत्र सौंपा और मराठा समुदाय को आरक्षण देने के संबंध में राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने की मांग की।


इस दौरान उनके साथ डिप्टी सीएम अजीत पवार, पीडब्ल्यूडी मंत्री अशोक चव्हाण, गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल, राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट और अन्य कई नेता मौजूद थे। मुलाकात के बाद ठाकरे ने कहा कि मराठा आरक्षण के मुद्दे पर वह जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ठाकरे ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर कहा कि महाराष्ट्र समुदाय को सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़ा वर्ग (एसईबीसी) में शामिल किया जाना चाहिए।


उन्होंने कहा कि मराठा समुदाय को शिक्षा में 12 फीसदी और नौकरी में 13 फीसदी आरक्षण मिलनी चाहिए। इससे पहले महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण से संबंधित कानून को खारिज करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए मुख्मयंत्री ने कहा था कि वह केंद्र से हाथ जोड़कर अनुरोध कर रहे हैं कि जिस तत्परता के साथ उसने आर्टिकल 370 एवं अन्य विषयों पर कदम उठाया उसी तत्परता के साथ वह इस संबंध में भी दखल दे।


शीर्ष अदालत के फैसले के बाद एक बयान में ठाकरे ने कहा था कि हम हाथ जोड़कर प्रधानमंत्री एवं राष्ट्रपति से मराठा आरक्षण पर तत्काल निर्णय लेने का अनुरोध करते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इस कानून को असंवैधानिक करार देते हुए खारिज कर दिया था और कहा था कि 1992 में मंडल फैसले के तहत निर्धारित 50 प्रतिशत आरक्षण सीमा के उल्लंघन के लिए कोई असाधारण परिस्थिति नहीं है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.