Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Maharashtra Tussle: शिवसेना का होगा CM, 16-14-12 के फॉर्मूले पर बन सकती है बात

NCP लीडर नवाब मलिक ने कहा है कि तीनों पार्टियों के साथ आने पर शिवसेना की ओर से ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा
अपडेटेड Nov 15, 2019 पर 15:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद से शिवसेना, कांग्रेस और नेशनल कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाने की कवायद में जुटी हुई है। NCP ने शुक्रवार को कहा है कि सरकार बनने पर शिवसेना से ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। वहीं, जानकारी है कि शिवसेना ने 16-14-12 सीटों के फॉर्मूले का प्रस्ताव रखा है।


NCP लीडर नवाब मलिक ने कहा है कि तीनों पार्टियों के साथ आने पर शिवसेना की ओर से ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। नवाब मलिक ने ANI से कहा- यह सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि शिवसेना का सीएम होगा क्या? सीएम पोस्ट को लेकर ही सेना-बीजेपी के बीच में विवाद हुआ था, तो निश्चित रूप से सीएम शिवसेना का होगा। शिवसेना को अपमानित किया गया है, उनका स्वाभिमान बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी बनती है।


उधर रिपोर्ट यह भी है कि शिवसेना ने गठबंधन में सीएम पोस्ट के साथ ही 16-14-12 के फॉर्मूले पर सरकार बनाने का प्रस्ताव रखा है। यानी शिवसेना को कैबिनेट में 16 पद, NCP को 14 और कांग्रेस को 12 पद दिया जाए। News18 की खबर के मुताबिक, शिवसेना ने यह फॉर्मूला रखा तो है लेकिन कांग्रेस 14-14-14 का समीकरण चाहती है।


वहीं, वेबसाइट ने सूत्रों के हिसाब से यह भी कहा है कि शिवसेना पांच सालों के लिए अपना सीएम बनाना चाहती है लेकिन NCP 50-50 का फॉर्मूला चाहती है। यानी वही समीकरण, जो शिवसेना खुद बीजेपी से चाहती थी।


नवाब मलिक ने ANI से कहा- यह सवाल बार-बार पूछा जा रहा है कि शिवसेना का सीएम होगा क्या? सीएम पोस्ट को लेकर ही सेना-बीजेपी के बीच में विवाद हुआ था, तो निश्चित रूप से सीएम शिवसेना का होगा। शिवसेना को अपमानित किया गया है, उनका स्वाभिमान बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी बनती है।


शिवसेना के लीडर और प्रवक्ता संजय राउत ने रिपोर्टर्स से बात करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में अगली सरकार शिवसेना के नेतृत्व में बनेगी और बाकी पार्टियों के साथ मिलकर राज्य के हित के लिए कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर काम किया जा रहा है।


उधर कांग्रेस राज्य में सरकार गठन के लिए बैठक कर रही है। वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की है।


ऐसे में तीनों पार्टियों की गाड़ी एक ही पटरी पर ठीक जा रही है, देखना है कि आखिर में किस समझौते पर मुहर लगती है और राज्य में आखिरकार कब सरकार बनती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।