Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

होटल, टूर ऑपरेटर्स, ट्रैवेल एजेंट और टूरिस्ट ट्रांसपोर्ट को मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत

होटलों और अन्य आवास यूनिट्स के अप्रूवल या सार्टिफिकेट की वैलिडिटी 30 जून तक बढ़ा दी गई है
अपडेटेड May 27, 2020 पर 15:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस लॉकडाउन की सबसे बड़ी कीमत चुकाने वालों में टूरिज्म इंडस्ट्री शामिल है। होटलें बंद हैं। ट्रैवल एजेंट्स के काम में पूरी तरह से ब्रेक लग चुका है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री (hospitality industry) बुरी तरह प्रभावित हुई है। कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते यह इंडस्ट्री कठिन दौर से गुजर रही है। ऐसे में सरकार ने इस इंडस्ट्री को बड़ी राहत दी है। सरकार ने घोषणा की है कि होटलों और अन्य आवास यूनिट्स के अप्रूवल या सार्टिफिकेट की वैलिडिटी 30 जून तक बढ़ा दी गई है। लॉकडाउन के दौरान जिन लोगों की सार्टिफिकेट की वैलिडिटी खत्म हो रही थी, सबकी वैलिडिटी बढ़ा दी गई है।


मंत्रालय कई श्रेणियों के पर्यटकों के लिए अपेक्षित मानकों के अनुरूप स्टार रेटिंग सिस्टम के तहत होटलों का क्लासिफिकेशन करता है। इस सिस्टम के तहत होटलों को एक रेटिंग दी जाती है। यह सार्टिफिकेशन 5 साल के लिए वैलिड होता है।


लॉकडाउन के दौरान निरीक्षण कार्य (inspection work) और आवेदन की जांच को स्थगित (postponement) करना पड़ा है। इस देखते हुए पर्यटन मंत्रालय ने टूर ऑपरेटर (इनबाउंड, घरेलू, एडवेंचर), ट्रैवल एजेंट और टूरिस्ट ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर की सभी श्रेणियों को छह महीने की छूट या विस्तार की अनुमति देने का निर्णय लिया है।


कुल मिलाकर सरकार के इस फैसले से लॉकडाउन से प्रभावित इस इंडस्ट्री को बड़ी राहत मिलेगी।


कोरोना वायरस तबाह हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया था। ताकि देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया जा सके।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें