Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Malegaon Blast के सभी आरोपियों को हफ्ते में एक बार जाना ही होगा कोर्ट

प्रकाशित Fri, 17, 2019 पर 14:43  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मालेगांव विस्फोट मामले की सुनवाई कर रही मुंबई की एक स्पेशल कोर्ट ने मामले की सुनवाई में गैर हाजिर रहने पर आरोपियों को लताड़ लगाई।


कोर्ट ने शुक्रवार को भोपाल लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित सहित सभी सातों आरोपियों को हफ्ते में एक बार कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया।


सुनवाई के दौरान मामले के आरोपी बार-बार गैर-हाजिर हो रहे थे, इसलिए जस्टिस विनोद पाडलकर ने यह आदेश दिया। उन्होंने निर्देश दिया कि बिना किसी ठोस कारण के मांगी गई छुट्टी को कोर्ट खारिज कर देगा।


बता दें कि इस मामले में कोर्ट अभी गवाहों के बयान दर्ज कर रही है। अगली सुनवाई 20 मई को होगी। आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून की धाराओं के तहत सुनवाई चल रही है। आरोपियों के खिलाफ विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं के तहत भी आरोप लगाए गए हैं। कोर्ट ने पिछले साल अक्टूबर में सातों आरोपियों के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों, आपराधिक षड्यंत्र और हत्या और अन्य के लिए मामले में आरोप तय किए थे।


मालेगांव में 29 सितंबर, 2008 को एक मस्जिद के पास हुए विस्फोट में छह लोगों की मौत और 100 से अधिक लोग घायल हुए इस केस में पुरोहित और ठाकुर के अलावा मेजर (रिटायर्ड) रमेश उपाध्याय, अजय राहिरकर, सुधाकर द्विवेदी, सुधाकर चतुर्वेदी और समीर कुलकर्णी भी इस मामले में आरोपी हैं।