Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

टूरिस्ट्स से 'फोटोग्राफी टैक्स' क्यों ले रहा है गोवा का यह गांव?

गांव की पंचायत ने यहां फोटो खींचने या वीडियो शूट करने पर फोटोग्राफी टैक्स या स्वच्छता टैक्स लगाना शुरू कर दिया है
अपडेटेड Nov 06, 2019 पर 16:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का पैतृक गांव पर्रा अपने खूबसूरत जगहों की वजह से टूरिस्ट्स के बीच में काफी पॉपुलर है। लेकिन फिलहाल उत्तरी गोवा का यह गांव काफी अलग वजहों से चर्चा में है। इस गांव की पंचायत ने पर्यटकों के फोटो खींचने पर 500 रुपए का फोटोग्राफी टैक्स या स्वच्छता टैक्स लगा दिया है।


दरअसल यहां पर एक खूबसूरत लैंडस्केप है, जहां कई बॉलीवुड और इंटरनेशनल फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। यहां टूरिस्ट्स भी काफी आते हैं। लेकिन अब गांव की पंचायत ने यहां फोटो खींचने या वीडियो शूट करने पर फोटोग्राफी टैक्स या स्वच्छता टैक्स लगाना शुरू कर दिया है।


यहां के स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया है। न्यूज एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, पॉल फर्नांडेज़ नाम के एक स्थानीय शख्स ने एक टूरिस्ट पर 500 रुपए टैक्स लगाए जाने का वीडियो शूट कर लिया था, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और इस पर बहस शुरू हो गई।


ANI से बातचीत में फर्नांडेज़ ने कहा कि गांव की पंचायत ने उनके कुछ रिश्तेदारों से 500 रुपए टैक्स के रूप में लिया है, जो एक फोटो खींचने के लिए लेना गलत है।


पर्रा पंचायत के पूर्व सरपंच बेनेडिक्ट डिसूज़ा ने बताया कि गांव की पंचायत इस टैक्स के जरिए पर्यटकों का शोषण कर रही है। पंचायत किसी भी कॉमर्शियल शूट के लिए पैसे ले सकती है लेकिन किसी व्यक्ति से नहीं। उन्होंने कहा कि टूरिस्ट्स के आने से स्थानीय लोगों और सरकार दोनों को फायदा होता है, ऐसे में इस कदम से पर्यटक यहां आना कम कर सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।