Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

अर्थशास्त्रियों की राय- PM Modi के दूसरे टर्म में बना रहेगा GDP का ग्रोथ रेट

ब्रोकरेज और अर्थशास्त्रियों ने कहा कि इस टर्म में जीडीपी की वार्षिक वृद्धि दर औसत बनी रहेगी
अपडेटेड May 24, 2019 पर 11:49  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए ऐतिहासिक जीत के साथ वापस आ रही है. मोदी 2.0 की पारी शुरू हो रही है। ऐसे में मार्केट पंडितों की नजर बाजार और देश की अर्थव्यवस्था के रुख पर है।


बाजार विश्लेषकों का मानना है कि एनडीए का इतनी शानदार जीत की ओर बढ़ना इस बात का संकेत है कि देश की मैक्रो इकोनॉमिक पॉलिसी अगले पांच साल तक जारी रहेगी। ब्रोकरेज और अर्थशास्त्रियों ने गुरुवार को आए नतीजों को देखकर कहा कि इस टर्म में जीडीपी यानी सकल घरेलू उत्पाद की वार्षिक वृद्धि दर औसत बनी रहेगी। लेकिन विश्लेषकों ने ये भी चेताया कि नई सरकार के सामने मुख्य चुनौती आर्थिक सुधारों को जारी रखने की होगी।


इंफॉर्मेशन प्रोवाइडर कंपनी आईएचएस मार्किट ने कहा कि राज्यसभा में अभी बीजेपी के पास बहुमत नहीं है। ऐसे में पार्टी के लिए विधायी सुधार एजेंडा को आगे बढ़ाने में अड़चनें आएंगी।


हालांकि, चुनौतियों के बावजूद मोदी सरकार के दूसरे टर्म में इकोनॉमिक फ्रंट के लिए सीन पॉजिटिव रहने वाला है। 2019-23 के दौरान जीडीपी की वार्षिक वृद्धि दर औसत सात प्रतिशत रहने की उम्मीद है।


आईएचएस मार्किट ने अपने एक नोट में कहा कि 2019 में भारत के पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने का अनुमान है और जीडीपी का आकार 3,000 अरब डॉलर को पार जाएगा। इससे भारत ब्रिटेन को पीछे छोड़ देगा। 2025 तक भारत का जीडीपी जापान को पीछे छोड़ देगा और इससे भारत एशिया प्रशांत की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।