Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Moody's ने 2019 के लिए इंडिया के GDP ग्रोथ का अनुमान घटाकर 5.6% किया

निवेश कम होने और कंजम्प्शन डिमांड घटने के कारण मूडीज ने ग्रोथ का अनुमान घटाया है, कुछ दिन पहले आउटलुक की रेटिंग भी घटाई थी
अपडेटेड Nov 15, 2019 पर 09:56  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody) ने भारत के ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) के ग्रोथ का पूर्वानुमान घटा दिया है। मू़डीज ने 2019 के लिए GDP ग्रोथ का पूर्वानुमान घटाकर 5.6 फीसदी कर दिया है। इससे पहले 2018 में GDP की ग्रोथ रेट 7.4 फीसदी थी। कंजम्पशन डिमांड घटने और निवेश में स्लोडाउन की वजह मूडीज ने GDP ग्रोथ का पूर्वानुमान घटाया है।


मूडीज के अनुमान के मुताबिक, 2020 में इकोनॉमिक गतिविधियों की ग्रोथ 6.6 फीसदी और 2021 में 6.7 फीसदी रह सकती है। मू़डीज ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है, "इनवेस्टमेंट एक्टिविटीज में सुस्ती थी लेकिन इकोनॉमी को अभी तक कंजम्पशन डिमांड से सपोर्ट मिल रहा था। अब समस्या यह है कि कंजम्प्शन डिमांड में भी कमी आ गई है।"


रेटिंग एजेंसी का मानना है कि सरकार ने हाल ही में कॉरपोरेट टैक्स घटाकर, बैंक रीकैपिटलाइजेशन, सरकारी बैंकों के विलय और इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बढ़ाने जैसे जो कदम उठाए हैं उससे इकोनॉमी को बहुत ज्यादा सपोर्ट नहीं मिल पाया है। सरकार की ये कोशिशें कंजम्प्शन डिमांड को सपोर्ट नहीं कर पाई है।


मूडीज को उम्मीद है कि RBI अगली मौद्रिक समीक्षा में भी रेट कट कर सकता है। मूडीज ने कहा है, "घरेलू मार्केट में महंगाई कमजोर रहने, अंतरराष्ट्रीय बाजार में ऑयल प्राइस सस्ता होने से RBI रेट कट करने का फैसला ले सकता है।" हालांकि मूडीज ने यह भी कहा है कि रेट कट का फायदा आम लोगों को नहीं मिल पा रहा है क्योंकि क्रेडिट ग्रोथ कम है।


कुछ दिन पहले आउटलुक घटाया


क्रेडिट रेटिंग एजेंसी Moodys ने भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ा अनुमान जताया है। Moodys ने भारत की रेटिंग Stable (स्थिर) से Negative (नकारात्मक) कर दी है।


BAA2 रेटिंग की पुष्टि करते हुए Moodys ने कहा कि भारत की रेटिंग निगेटिव कर दी गई है। इससे पता चलता है कि देश मंदी की ओर बढ़ रहा है। आर्थिक मंदी की ओर लंबे समय तक चिंताएं रहेंगी साथ ही देश में कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।