Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Mumbai Lockdown 4.0: मुंबई में शराब, ऑफिस, दुकानों के बीच जानिए क्या है खुला और क्या है बंद

लॉकडाउन 4 में केंद्र सरकार ने राज्य सरकरों को रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में छूट देने का अधिकार दिया है
अपडेटेड May 19, 2020 पर 10:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। देश भर में महाराष्ट्र सबसे अधिक कोरोना वायरस से प्रभावित राज्य है। मुंबई में रविवार के दिन जिस तरह से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ वो काफी चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई है। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 33,053 हो गई है। राज्य में अब तक 1,198 लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक कुल 7,688 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।


देश में कोरोना वायरस के संक्रमण क प्रसार को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने चौथे चरण का लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है। इस लॉकडाउन में अन्य लॉकडाउन के मुकाबले थोड़ा ढील दी गई है। ऐसे में सवाल उठता है कि सबसे अधिक कोरोना संक्रमित प्रदेश महाराष्ट्र में आखिर किस तरह की ढील दी जाएगी। जहां सबसे अधिक कोरोना संक्रमित मरीज हैं। लॉकडाउन 4 में केंद्र सरकार ने ज्यादातर फैसले राज्य सरकारों को लेने के लिए छोड़ दिया है। ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन की पहचान कैसे की की जाएगी इसका अधिकार राज्य सरकारों को दिया गया है। स्थानीय प्रशासन पहतान कर सकता है कि किसे किस जोन में बांटा जाए।


जानिए लॉकडाउन 4 में मुंबई में किस तरह की छूट दी गई है


कंटेनमेंट जोन में केवल आवश्यक सेवाओं की अनुमति दी जाएगी। लोगों को कंटेनमेंट जोन से बाहर निकलने की अनुमति नहीं और न ही अंदर जाने की अनुमति है। केवल स्वास्थ्य अधिकारी और आवश्यक सेवाओं की पूर्ति करने की अनुमति दी जाएगी।


महाराष्ट्र राज्य अब हेल्थ मिनिस्ट्री द्वारा जारी किए गए गाइडलाइंस का पालन करते हुए कंटेनमेंट जोन तय करेगा। आवश्यक गतिविधियों को छोड़कर सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक आवाजाही पर रोक रहेगी। 


राज्य सरकारों को अधिकार दिया गया है कि आपसी सहमति के आधार पर एक राज्य से दूसरे राज्यों के लिए बस सर्विस शुरू कर सकते हैं। ऐसे में महाराष्ट्र सरकार ने तय करेगी कि तीसरे चरण के दौरान सड़कों पर ओला (Ola) और ऊबर (Uber) फर्राटा भरेगी या नहीं।


सभी ट्रको, सामान की ढुलाई करने वाले वाहनों को एक राज्य से दूसरे राज्यों में आवाजाही की अनुमति दी जाएगी।


गाइड लाइंस के मुताबिक, ऑफिस का काम करने के लिए घर से काम करने की तरजीह दी गई गई। फिर भी अगर मजबूरी है तो थर्मल स्क्रीनिंग के साथ हाथों को सैनिटाइज करके ऑफिस में अंदर जाने की अनुमति दी जाए। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन करना चाहिए।


सभी सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, पार्क और थिएटर बंद रहेंगे।
रेस्टोरेंट होम डिलिवरी के लिए खोल सकते हैं। अन्यथा होटल्स और दूसीर हॉस्पिटैलिटी सर्विस बंद रहेंगी।


चौथे चरण के लॉकडाउन में मुंबई लोकल ट्रेनों और मेट्रो चलाने की अनुमति नहीं है।
राज्य में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने पर राज्य सरकार ने शराब की दुकानें बंद कर दी थीं। हालांकि लॉकडाउन 4.0 में शराब की होम डिलिवरी की अनुमति होगी।


सभी दुकानें एक रणनीतिक समय के सात खोली जाएंगी। यानी अलग-अलग समय में खोली जा सकती हैं। ग्राहकों को आपसे में 6 फिट की दूरी बनाकर रखनी होगी। एक दुकान में 5 से अधिक लोगों के खड़े होने की अनुमति नहीं है।


केंद्र सरकार ने अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों को गैरी जरूरी सामान की होम डिलिवरी करने की मंजूरी दे दी है।


सभी लोगों को पब्लिक प्लेस पर मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है।


पब्लिक प्लेस पर शराब. पान, गुटखा और तम्बाकू खाने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई गई है।


कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पब्लिक प्लेस पर थूंकना दंडनीय होगा। साथ ही जुर्माना भी लगाया जा सकता है।


शादी समारोह में 50 लोगों तक शामिल होने की अनुमति दी गई है। वहीं अंतिम संस्कार में अधिक से अधिक 20 लोगों को सामिल होने की मंजूरी दी गई है। हालांकि स बीच पूरी तरह से सोसल डिस्टेसिंग का पालन करना जरूरी है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें