Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

'इमेज बनाने से ज्‍यादा जरूरी है लोगों की जान बचाना', अनुपम खेर ने PM मोदी को दी नसीहत

66 वर्षीय अभिनेता अनुपम खेर की यह टिप्‍पणी अप्रत्‍याशित ही मानी जा सकती हैं, क्योंकि उनकी पत्‍नी किरण खेर BJP सांसद हैं
अपडेटेड May 13, 2021 पर 16:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बॉलीवुड के दिग्‍गज अभिनेता अनुपम खेर (Anupam Kher) ने बुधवार को केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए को नसीहत दी है। अनुपम खेर ने कहा कि सरकार को समझना होगा कि इस वक्‍त इमेज बनाने से ज्‍यादा लोगों की जान बचाना जरूरी है। आम तौर पर अनुपम खेर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशंसक माने जाते हैं और यह पहला मामला है जब उन्‍होंने सार्वजनिक तौर पर सरकार की आलोचना की है।


अनुपम ने कहा कि उन्‍हें लगता है कि कोरोना महामारी संकट में सरकार फिसल गई और इसे जिम्‍मेदार ठहराना महत्‍वपूर्ण है। बुधवार को NDTV को दिए एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा कि कहीं न कहीं वे लड़खड़ा गए...यह समय उनके लिए इस बात को समझने का है कि छवि बनाने के अलावा भी जीवन में और भी बहुत कुछ है।


अभिनेता ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच देश में जो कुछ हो रहा है, उसके लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराना जरूरी है। अधिकारियों की सार्वजनिक आलोचना कई मामलों में वैध है। एफटीआईआई के पूर्व अध्‍यक्ष अनुपम खेर ने आगे कहा कि सरकार के लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि इस समय इमेज बनाने से ज्यादा जरूरी जीवन बचाना है।


उन्होंने कहा कि सरकार से स्वास्थ्य संकट के प्रबंधन में कहीं ना कहीं चूक हुई है, लेकिन इन खामियों का फायदा दूसरे राजनीतिक दलों को भी अपने हक में नहीं उठाना चाहिए। इंटरव्‍यू के दौरान अनुपम खेर से पूछा गया कि सरकार की कोशिश अभी राहत देने की बजाय खुद की इमेज और समझ को बनाने पर ज्‍यादा है, इस पर नेशनल अवॉर्ड विजेता अभिनेता ने कहा कि सरकार के लिए जरूरी है कि वह इस चुनौती का सामना करे और उन लोगों के लिए कुछ करे जिन्होंने उन्हें चुना है।


अनुपम खेर ने इस दौरान हाल ही गंगा और अन्य नदियों में मिलने वाले अज्ञात शवों का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि कई मामलों में आलोचना वैध है। कोई अमानवीय व्यक्ति ही नदियों में बहती लाशों से प्रभावित नहीं होगा। मेरे हिसाब से हमें गुस्सा आना चाहिए। जो हो रहा है, उसके लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराना जरूरी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।