Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

नई IMF चीफ ने ट्रेड वॉर को लेकर जताई चिंता, कहा- भारत जैसे देशों पर पड़ेगा सबसे ज्यादा असर

ग्लोबल ट्रेड वॉर से पैदा हुए स्लोडाउन से जॉर्जीवा ने दुनिया के 90% देशों पर असर पड़ने की आशंका जताई
अपडेटेड Oct 10, 2019 पर 14:21  |  स्रोत : Moneycontrol.com

International Monetary Fund (IMF) की नई चीफ क्रिस्टलीना जॉर्जीवा ने ग्लोबल ट्रेड वॉर को लेकर चिंता जताई है और इससे होने वाले असर को एक नया टर्म Synchronized Global Slowdown दिया है। जॉर्जीवा ने मंगलवार को कहा कि ट्रेड वॉर में नुकसान सबका होता है, लेकिन कुछ को ज्यादा नुकसान होता है। उनका मानना है कि इसका असर भारत जैसी तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं पर सबसे ज्यादा होगा।


ग्लोबल ट्रेड वॉर से पैदा हुए स्लोडाउन से जॉर्जीवा ने दुनिया के 90% देशों पर असर पड़ने की आशंका जताई। उन्होंने कहा कि यह एक तरह का सिंक्रोनाइज्ड यानी एक दूसरे से जुड़ा स्लोडाउन है, जिसका असर एक के बाद दूसरे फिर दूसरे देश पर पड़ेगा और इसकी लपेट में दुनिया भर के 90 फीसदी देश आएंगे।


जॉर्जीवा ने कहा कि ट्रेड वॉर में कोई नहीं जीतता, सबकी हार ही होती है लेकिन इसका असर भारत और ब्राजील जैसे बढ़ते बाजार वाली अर्थव्यवस्थाओं पर लॉन्ग टर्म के लिए असर पड़ेगा। इन देशों में इसका असर कहीं ज्यादा होगा। उन्होंने ट्रेड वॉर में उलझे देशों को इससे बाहर निकलने का आग्रह किया।


जॉर्जीवा ने कहा कि IMF का लेटेस्ट फोरकास्ट अगले हफ्ते रिलीज किया जाएगा, जिसमें वृद्धि दर इस दशक के सबसे निचले स्तर पर हो सकता है। उन्होंने इसके पीछे ट्रेड वॉर को बताया और कहा कि इससे 700 बिलियन डॉलर यानी वैश्विक GDP के 0.8% का नुकसान होगा।


जॉर्जिवा ने कहा कि IMF चालू और अगले साल के लिए अपने वृद्धि दर अनुमान को घटा रहा है। हालांकि इसके ऑफिशियल अपडेटेड आंकड़े वह 15 अक्टूबर को जारी करेगा। पहले IMF ने 2019 में वैश्विक वृद्धि दर 3.2 प्रतिशत और 2020 में 3.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।