Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Social Media पर कसेगा कानूनी शिकंजा, 15 जनवरी, 2020 तक नए कानून बनाएगी सरकार!

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सोशल मीडिया से जुड़े सभी केस जनवरी के आखिरी हफ्ते में सुने जाएंगे
अपडेटेड Oct 23, 2019 पर 09:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सोशल मीडिया पर हेट स्पीच, फेक न्यूज, आपत्तिजनक और एंटी नेशनल गतिविधियों पर लगाम कसने के लिए सरकार 15 जनवरी, 2020 तक नए कानून बनाएगी। केंद्र सरकार ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में बताया कि अगले साल 15 जनवरी तक इस संबंध में नियम-कानून बना लिए जाएंगे। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि कानून के मुताबिक नियम तैयार कर उसकी अधिसूचना जारी करने के लिए उसे तीन महीने का वक्त चाहिए।


सुप्रीम कोर्ट ने पिछले महीने सरकार से इस पर जवाब मांगा था। सरकार ने अपने जवाब में जानकारी दी है कि इसके लिए बनाई गई ड्राफ्ट गाइडलाइंस पर स्टेकहोल्डर्स, मंत्रालयों और संगठनों से राय ली जा चुकी है। जो जानकारी इकट्ठा हुई है उसका विश्लेषण कर फाइनल ड्राफ्ट तैयार किया जा चुका है। इसपर कानून मंत्रालय को अंतिम फैसला लेना है। इन नियमों के आने के बाद सोशल मीडिया समेत इंटरनेट के जरिए काम करने वाली तमाम कंपनियों के गलत इस्तेमाल पर रोक लगाई जा सकेगी।


सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सोशल मीडिया से जुड़े सभी केस जनवरी के आखिरी हफ्ते में सुने जाएंगे। कोर्ट ने सोशल मीडिया प्रोफाइल के डेटा डिक्रिप्शन की मांग से से जुड़े मद्रास, बॉम्बे और मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में पड़े सभी मामलों को अपने पास ट्रांसफर करा लिया है।


फेसबुक और वॉट्सऐप ने भी अपने केस सुप्रीम कोर्ट के पास ही ट्रांसफर का आग्रह किया है क्योंकि यह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा है।


दरअसल, तमिलनाडु सरकार अबतक सोशल मीडिया कंपनियों के ट्रांसफर के आग्रह को टालती रही है। तमिलनाडु का केस देख रहे अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कोर्ट में कहा है कि वॉट्सऐप और फेसबुक को सरकार की मांग पर कोई भी इन्फॉर्मेशन डिक्रिप्ट करने के लिए तैयार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि कंपनियां इन्फॉर्मेशन डिक्रिप्ट करने से मना नहीं कर सकतीं।


वहीं, इन कंपनियों की दलील है कि उनके पास इन्फॉर्मेशन डिक्रिप्ट करने के लिए कोई "key" नहीं है, वो बस अथॉरिटीज को सहयोग दे सकती हैं। इस पर जस्टिस दीपक गुप्ता और अनिरुद्ध बोस की बेंच ने कहा कि यह बिल्कुल वैसा ही है कि घर के मालिक से चाभी मांगो और वो कहे कि उसके पास चाभी नहीं है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।