Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

रेपो रेट में कोई चेंज नहीं, आपके लोन और FD पर क्या असर होगा?

लगातार 5 बार रेपो रेट में कटौती करने के बाद RBI ने इस बार दरों में कोई बदलाव नहीं किया है
अपडेटेड Dec 06, 2019 पर 09:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आज MPC के सभी सदस्यों की सहमति पॉलिसी रेट को पहले के लेवल पर बरकरार रखने पर रही। इससे पहले रिजर्व बैंक इस साल अब तक रेपो रेट में 1.35 फीसदी की कटौती की थी। रेपो रेट पहले की तरह 5.15 फीसदी है। रिजर्व बैंक ने लगातार 5 बार रेपो रेट में कटौती के बाद इस बार दरों में कोई बदलाव नहीं किया है।


FD निवेशकों को असर


RBI के रेट कट ना करने से FD में पैसा लगाने वालों को थोड़ी राहत मिलेगी। पिछले कुछ महीने में जब भी RBI पॉलिसी रेट में कमी करता था बैंक FD पर रिटर्न घटा देते थे। रेपो रेट में कटौती का असर FD के इंटरेस्ट रेट पर कितना पड़ता है, उसका अंदाजा आप इस उदाहरण से लगा सकते हैं। नवंबर 2019 में SBI के एक साल के FD का इंटरेस्ट रेट 6.25 फीसदी है जो अगस्त में 6.8 फीसदी था। हालांकि एक बात यह भी ध्यान देने लायक है कि सरकार दिसंबर में स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स के इंटरेस्ट रेट का रिव्यू करेगी। यानी पोस्टऑफिस या सुकन्या समृद्धि जैसी सरकारी योजनाओं का इंटरेस्ट रेट घटेगा या बढ़ेगा, यह दिसंबर में ही पता चल पाएगा।


लोन लेने वालों पर असर


1 अक्टूबर से बैंकों के फ्लोटिंग लोन रेट एक्सटर्नल बेंचमार्क पर आधारित हैं। इसका मतलब है कि रेपो रेट में कटौती ना होने से लोन लेने वाले ग्राहकों को कोई राहत नहीं मिलेगी। लोन लेने वाले ग्राहकों का इंटरेस्ट रेट तीन चीजों पर निर्भर करता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।