Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए ओडिशा सरकार ने दिखाई चीन जैसी फुर्ती

ओडिशा सरकार ने कोरोना के खतरे को भापते हुए दो हफ्ते के भीतर 1000 बेड का अस्पताल बनाने की घोषणा की है
अपडेटेड Mar 27, 2020 पर 09:18  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकारें भी ताल से ताल मिलाकर चल रही हैं। इस महामारी के संकट से उबरने के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन कर दिया है। इस बीच ओडिशा सरकार ने दो हफ्ते के भीतर 1000 बेड का अस्पताल बनाने की घोषणा की है। ये अस्पताल सिर्फ और सिर्फ कोरोना (Covid-19) के मरीजों के लिए समर्पित होगा।


ओडिशा में भले ही कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मामलों की संख्या 2 हो, लेकिन नवीन पटनायक सरकार ने सूबे में 15 दिन के भीतर 1000 बेड का अस्पताल बनाने का ऐलान कर दिया है। ओडिशा देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है जो सिर्फ और सिर्फ कोरोना वायरस से पीड़ितों के लिए अस्पताल बनाने जा रहा है। अस्पताल बनाने के लिए ओडिशा सरकार कॉर्पोरेट और मेडिकल कॉलेजों के बीच एक त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इस अस्पताल में केवल कोरोना वायरस पीड़ितों का इलाज होगा। 15 दिन बाद इस अस्पताल का संचालन शुरु हो जाएगा।  


कुल मिलाकर कोरोना के खतरे को भांपते हुए अडिशा सरकार चीन की तरह फुर्ती दिखा रही है। इसके पहले चीन ने वुहान शहर में कोरोना वायरस फैलने के बाद वहां की सरकार ने 10 दिन के भीतर अस्पताल तैयार कर दिया था। साथ ही 1400 डॉक्टरों की टीम भी तैनात कर दी थी।


सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब तक 649 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें से 13 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ 43 ठीक होकर अस्पताल से अपने घर जा चुके हैं। कोरोना वायरस से ओडिशा में अब तक 2 मामले सामने आए हैं, लेकिन सरकार ने गभीरता से देखते हुए अभी से ही कमर कस ली है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।