Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

पाकिस्तान के ICJ वकील ने खुद कहा- कश्मीर में हिंसा के दावे को साबित करने के लिए नहीं हैं सबूत

पाकिस्तान के वकील ने कहा है कि पाकिस्तान के पास कश्मीर में जेनोसाइड को साबित करने के लिए सबूत नहीं है
अपडेटेड Sep 04, 2019 पर 09:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

International Court of Justice में पाकिस्तान के वकील खवार कुरैशी ने खुद कहा है कि पाकिस्तान के पास कश्मीर में जेनोसाइड को साबित करने के लिए सबूत नहीं है। ऐसे में हिंसा साबित करने में पाकिस्तान को मुश्किल होगी।


कुरैशी का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के भारत के फैसले के खिलाफ भड़का हुआ है और इस कदम के खिलाफ आईसीजे जाने की धमकी दे रहा है।


कुरैशी ने पाकिस्तानी न्यूज चैनल 92 News पर एक इंटरव्यू में कहा कि आईसीजे यूनाइटेड नेशंस की मुख्य अदालत है। पाकिस्तान Genocide Convention of 1948 के तहत आईसीजे के पास जा सकता है, जिसपर भारत-पाकिस्तान दोनों देशों ने हस्ताक्षर किए हैं। कोई भी देश, जिसने जेनोसाइड किया है या करने वाला है, या फिर जेनोसाइड को रोकने में असफल रहा है, उसपर इस कन्वेंशन के तहत कार्रवाई की जा सकती है। लेकिन दावों के मुकाबले सबूत न होने पर पाकिस्तान के लिए आईसीजे के सामने अपना केस साबित करना मुश्किल हो सकता है।


बता दें कि भारत के इस कदम से बौखलाया पाकिस्तान हर अंतरराष्ट्रीय मंच पर जाने की धमकी दे रहा है। इसके लिए उसने दुनिया भर के कई नेताओं से संपर्क किया है लेकिन अधिकतर देशों ने इसे भारत का आंतरिक मसला बताया है, जैसा कि भारत ने खुद कहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।