Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

1 अप्रैल से महंगा होने वाला है पेट्रोल-डीजल, पंप्स पर मिलने लगेगा BS-VI ईंधन

IOC) ने कम कार्बन उत्सर्जन वाले BS-VI मानकों के अनुकूल ईंधन की सप्लाई करने की तैयारी कर ली है
अपडेटेड Feb 29, 2020 पर 12:53  |  स्रोत : Moneycontrol.com

1 अप्रैल, 2020 से पेट्रोल-डीजल के लिए आपको थोड़े ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं। 1 अप्रैल से देश में BS6 ईंधन की सप्लाई शुरू हो जाएगी, जिसके चलते पेट्रोल-डीजल के दाम थोड़े बढ़ सकते हैं। पब्लिक सेक्टर की ऑयल मार्केटिंग कंपनी (OMC) Indian Oil  Corporation (IOC) ने इस तारीख से देश में कम कार्बन उत्सर्जन वाले BS-VI मानकों के अनुकूल ईंधन की सप्लाई करने की तैयारी कर ली है।


IOC ने शुक्रवार को कहा कि वह कम कार्बन उत्सर्जन वाले बीएस-VI मानकों के अनुकूल ईंधन की सप्लाई एक अप्रैल से करने को तैयार है। कंपनी ने बताया कि इससे ईंधन के खुदरा दाम में मामूली बढ़ोत्तरी होगी।


IOC के चेयरमैन संजीव सिंह ने कहा कि देश की सबसे बड़ी तेल सप्लायर IOC ने कम सल्फर वाले डीजल और पेट्रोल के प्रोडक्शन को लेकर अपनी रिफाइनरी को अपग्रेड बनाने को लेकर 17,000 करोड़ रुपए खर्च किया है।


क्या BS6 ईंधन की सप्लाई के बाद ईंधन के दामों में बढ़ोत्तरी होगी, सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा- ईंधन के खुदरा दाम में एक अप्रैल से बढ़ोत्तरी जरूर होगी लेकिन यह मामूली होगी। एक अप्रैल से नए ईंधन की बिक्री शुरू होगी जिसमें सल्फर की मात्रा केवल 10 पीपीएम (PPM- part per million) होगी, जो अभी 50 पीपीएम है।


हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि पेट्रोल-डीजल कितने महंगे हो सकते हैं। लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि ज्यादा दाम बढ़ाकर IOC अपने कंज्यूमर्स पर बोझ नहीं डालेगा।


सिंह ने बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने नए ईंधन के लिए अपनी रिफाइनरी को अपग्रेड करने के लिए 35,000 करोड़ रुपए निवेश किया है। इसमें से 17,000 करोड़ रुपए अकेले IOC ने निवेश किया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।