Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

पैसे देकर वैक्सीन लगवाएंगे मोदी सरकार के सभी मंत्री, 1 मार्च से शुरू होगा दूसरे चरण का वैक्सीनेशन

जो सरकारी केंद्रों पर जाकर वैक्सीन लगवाएंगे उनको मुफ्त वैक्सीन लगेगा और जो लोग प्राइवेट अस्पतालों में लगावाएंगे उनको पैसे देना होगा
अपडेटेड Feb 25, 2021 पर 10:39  |  स्रोत : Moneycontrol.com

एक मार्च यानी सोमवार से देश के 10 हजार सरकारी केंद्रों और 20 हजार से ज्यादा प्राइवेट केंद्रों पर वैक्सीनेशन (Phase 2 of Covid vaccination) के दूसरे चरण के तहत 60 साल उम्र से ज्यादा वाले लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाया जाएगा। वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में 45 साल ऊपर वाले वैसे लोगों को भी वैक्सीन दिया जाएगा। कैबिनेट बैठक में सरकार ने बुधवार को फैसला किया कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों तथा किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को एक मार्च से कोरोना वैक्सीन सरकारी केंद्रों पर मुफ्त लगाया जाएगा। वहीं, प्राइवेट क्लिनिकों एवं केंद्रों पर उन्हें इसके लिए शुल्क देना पड़ेगा। बता दें कि कि देश में कोरोना वैक्सीनेशन का अभियान 16 जनवरी से शुरू हो चुका है।


केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ( Prakash Javadekar) ने बुधवार को कहा कि एक मार्च से 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के 10 करोड़ से ज्यादा लोगों और 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोग जिनको कोई दूसरी बीमारी है उनका वैक्सीनेशन किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि 10 हजार सरकारी केंद्रों पर और लगभग 20 हजार से ज्यादा प्राइवेट अस्पतालों में यह वैक्सीन लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो सरकारी केंद्रों पर जाकर वैक्सीन लगवाएंगे उनको मुफ्त वैक्सीन लगेगा और जो लोग प्राइवेट अस्पतालों में लगावाएंगे उनको पैसे देना होगा। शुल्क कितना होगा इसके बारे में स्वास्थ्य विभाग दो-तीन दिन में घोषणा करेगा।


उन्होंने कहा कि नागरिकों के वैक्सीनेश की खातिर शुल्क तय करने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय, वैक्सीन निमार्ताओं और प्राइवेट अस्पतालों के साथ बातचीत कर रहा है। इस दौरान प्रेस कॉन्फेंस में मौजूद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की कैबिनेट के सभी मंत्री कोरोना वैक्सीन का दाम चुकाने के बाद ही वैक्सीन लगवाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि सभी योग्य मंत्री वैक्सीन का खर्च खुद वहन करेंगे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह संख्या आगे चलकर और बड़ी होगी।


देश में कोरोना वैक्सीन का अभियान चरणबद्ध तरीके से किया जा रहा है। देश भर में अब तक 1.14 करोड़ लोगों को कोरोना का वैक्सीन लगाया जा चुका है। हेल्थकेयर वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए वैक्सीन अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था। भारत के ड्रग रेगुलेटर ने तीन जनवरी को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड कोविड-19 वैक्सीन कोविशिल्ड, और भारत बायोटेक के स्वदेशी रूप से विकसित कोवैक्सिन को इमरजेंसी उपयोग के लिए मंजूरी दी थी। भारत में गिरावट के बाद फरवरी महीने से कोरोना वायरस मामलों में वृद्धि देखी जा रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।