Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

PM Modi Mann ki baat Update : अन्य देशों के मुकाबले हमारे देश में कम फैला है कोरोना

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट में जो हालात संभले हैं उसे हमें बिगड़ने नहीं देना है
अपडेटेड Jun 01, 2020 पर 11:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो कार्यक्रम मन की बात में देशवासियों को संबोधित किया। उन्होंने इस कार्यक्रम में कई मुद्दों पर चर्चा की। योग से लेकर कोरोना वायरस और इसके बचाव और अन्य देशों के मुकाबले हम कितना बेहतर हैं। ऐसे तमाम मुद्दों पर चर्चा की।


11:32 AM


कोरोना वायरस के इस संकट में योग करना आज अहम है। योग करने से respiratory system मजबूत होता है। कई तरह के प्राणायाम हैं। आयुष मंत्रालय ने My Life My yoga नाम से एक वीडियो ब्लॉग प्रतियोगिता शुरू की है। भारत ही नहीं पूरी दुनिया के लोग इसमें हिस्सा ले सकते हैं।  इसमें हिस्सा लेने के लिए आपको अपना तीन मिनट का एक वीडियो बना करके अपलोड करना होगा। इस विडियो में आप जो योग या आसन करते हों, वो करते हुए दिखाना है और योग से आपके जीवन में जो बदलाव आया है, उसके बारे में भी बताना है।


11:28 AM


पीएम मोदी ने कहा कि जल है तो जीवन है। हमें पानी बचाना होगा। उन्होंने कहा कि बहुत से लोगों ने अपने इलाके में जो सामान मिलता है। उसकी एक लिल्ट बना ली है। ये लोग लोकल प्रोडक्ट्स ही खरीदते हैं। वोकल फॉर लोकल को प्रमोट कर रहे हैं। कोरोना संकट में जो हालत संभले हैं, उसे बिगड़ने नहीं देना है। पीएम मोदी ने कहा कि एक तरफ हम महामारी से लड़ रहे हैं, तो दूसरी तरफ हमने हाल में पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में प्राकृतिक आपदा का भी सामना करना पड़ा है। हालात का जायजा लेने के लिए मैं ओडिशा और पश्चिम बंगाल गया था। संकट की इस घड़ी में देश भी, हर तरह से वहां के लोगों के साथ खड़ा है।


11:25 AM


आज देश में श्रमिकों की स्किल मैपिंग का काम हो रहा है, कहीं स्टार्ट-अप इस काम में जुटे हैं, कहीं माइग्रेशन कमीशन बनाने की बात हो रही है। साथ ही केंद्र सरकार ने अभी जो फैसले लिए हैं उससे गांवों में रोजगार, स्वरोजगार और लघु उद्योग से जुड़ी विशाल संभावनाएं खुली हैं। पीएम ने आगे कहा कि कोरोना से होने वाली मृत्यु दर भी हमारे देश में काफी कम है। जो नुकसान हुआ है, उसका दु:ख हम सबको है। लेकिन जो कुछ भी हम बचा पाएं हैं, वो निश्चित तौर पर देश की सामूहिक संकल्पशक्ति का ही परिणाम है। हमारी जनसंख्या ज़्यादातर देशों से कई गुना ज्यादा है, फिर भी हमारे देश में कोरोना उतनी तेजी से नहीं फैल पाया, जितना दुनिया के अन्य देशों में फैला है।


11:20 AM


1 करोड़ से अधिक लोगों को आयुष्मान भारत का लाभ मिला है। इसमें 80 फीसदी ग्रामीण इलाकों से हैं। आयुष्मान भारत से गरीबों के 14 हजार करोड़ रुपये बचे हैं। जो दृश्य आज हम देख रहे हैं, इससे देश को अतीत में जो कुछ हुआ, उसे परखने और भविष्य के लिए सीखने का अवसर भी मिला है। आज हमारे श्रमिकों की पीड़ा में, देश के पूर्वीं हिस्से की पीड़ा को देख सकते हैं। उस पूर्वी हिस्से का विकास बहुत आवश्यक है।


11:15 AM


भारत में लोग अब स्वदेशी सामानो का उपोयग कर रहे हैं. उन्होंने सबको आत्म निर्भर बनने के लिए कहा है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई का रास्ता लंबा है। एक ऐसी आपदा जिसका पूरी दुनिया के पास कोई इलाज ही नहीं है, जिसका पहले का अनुभव ही नहीं है।  तो ऐसे में नई-नई चुनौतियां और उसके कारण परेशानियां हम अनुभव कर रहे हैं।


11:10 AM


तमाम सावधानियों के साथ हवाई जहाज उड़ने लगे हैं, धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुए हैं, यानी अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है। ऐसे में हमें और ज़्यादा सतर्क रहने की आवश्कयकता है। दो गज की दूरी का नियम हो, मुंह पर मास्क लगाने की बात हो, इन सारी बातों का पालन करना है। कोरोना वायरस महामारी का इलाज पूरी दुनिया में नहीं है। गांवों के लोगों ने सोशल डिस्टेसिंग का नया तरीका इजाद किया है। रेलवे कर्मचारी फ्रंटलाइन के कोरोना वॉरियर्स हैं। रेलवे रात दिन प्रवासी मजदूरों को घर तक पहुंचा रहा है। देश का पूर्वी हिस्सा ग्रोथ इंजन बन सकता है।


11:05 AM


पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में कहा कि देश में सभी के सामूहिक प्रयासों से कोरोना के खिलाफ लड़ाई बड़ी मजबूती से लड़ी जा रही है। लॉकडाउन में जो ढील दी गई है, उसमें सबको कड़ाई से पालन करना होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें