Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Noble Laureate इकोनॉमिस्ट अभिजीत बनर्जी से मिले पीएम मोदी, मुलाकात के बाद कही यह बात

बनर्जी को डेवलपमेंटल इकोनॉमी में उनके योगदान के लिए प्रतिष्ठित नोबल प्राइज से सम्मानित किया गया है
अपडेटेड Oct 22, 2019 पर 16:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नोबल प्राइज से सम्मानित किए गए भारतीय-अमेरिकी इकोनॉमिस्ट अभिजीत बनर्जी से मुलाकात की। पीएम ने मुलाकात के बाद बताया कि उनकी बनर्जी से कई मुद्दों पर गहरी और स्वस्थ चर्चा हुई।


पीएम मोदी ने बनर्जी से मुलाकात की जानकारी ट्विटर पर दी। उन्होंने बनर्जी के साथ एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि "नोबल लॉरिएट अभिजीत बनर्जी के साथ बेहतरीन मुलाकात। जनसशक्तिकरण को लेकर उनका ज़ुनून साफ झलकता है। हमने कई मुद्दों पर गहरी और स्वस्थ चर्चा की। भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है। उनको भविष्य की चुनौतियों के लिए मेरी शुभकामनाएं।"


बनर्जी को रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज की ओर से डेवलपमेंटल इकोनॉमी में उनके योगदान के लिए प्रतिष्ठित नोबल प्राइज से सम्मानित किया है। यह पुरस्कार उनके साथ फ्रेंच-अमेरिकन एस्टर डफ्लो, जोकि उनकी पत्नी भी हैं और अमेरिकन प्रोफेसर माइकल क्रेमर को संयुक्त रूप से दिया गया है। उन्हें यह पुरस्कार ग्लोबल पॉवर्टी को खत्म करने में एक्सपेरिमेंटल अप्रोच के चलते लिया गया है।


उन्होंने भारत में इकोनॉमी स्लोडाउन पर कहा था कि इस वक्त देश की अर्थव्यवस्था डगमगाती स्थिति में है और मौजूदा आंकड़े देखकर ऐसा नहीं लगता कि यह जल्दी पटरी पर आने वाली है।


हालांकि, उन्होंने मोदी सरकार की कुछ योजनाओं की तारीफ की थी। बनर्जी ने News18 से खास बातचीत में मोदी सरकार की जनधन, उज्ज्वला, आयुष्मान भारत योजना के साथ साथ दूसरी आम लोगों से जुड़ी योजनाओं की तारीफ़ की थी। बनर्जी ने कहा कि आयुष्मान भारत जैसी योजनाएं आम लोगों का जीवन बचाएंगी और उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी। जबकि जनधन योजना से आम लोग बचत कर सकेंगे। उन्होंने आधार कार्ड को बैंक और LPG सब्सिडी से जोड़ने की भी तारीफ की थी।


बता दें कि कांग्रेस ने लोकसभा चुनावों में अपने मेनिफेस्टो में NYAY योजना को शामिल किया था, उसमें उसने बनर्जी से भी सुझाव मांगा था। मोदी सरकार में रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने अभी हाल ही में उन्हें लेफ्ट की तरफ झुकाव रखने वाला इकोनॉमिस्ट बताया था। उनका कहना था कि उन्हें उनकी उपलब्धि पर गर्व है लेकिन उनकी योजना NYAY को भारत की जनता ने नकार दिया.था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।