Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

रिजर्व बैंक ने FY 2020 के लिए GDP ग्रोथ का अनुमान घटाया, रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

RBI ने फिस्कल ईयर 2019-2020 के लिए देश की GDP ग्रोथ का अनुमान 6.1 फीसदी से घटाकर 5% कर दिया है
अपडेटेड Dec 06, 2019 पर 08:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

RBI मॉनेटरी पॉलिसी (MPC) ने आज पॉलिसी रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। इससे पहले उम्मीद जताई जा रही था कि महंगाई दर बढ़ने और फिस्कल ईयर 2020 में GDP ग्रोथ गिरने की वजह से RBI शायद लगातार छठी बार रेट कट कर सकता है। हालांकि आज MPC के सभी सदस्यों की सहमति पॉलिसी रेट को पहले के लेवल पर बरकरार रखने पर रही। इससे पहले रिजर्व बैंक इस साल अब तक रेपो रेट में 1.35 फीसदी की कटौती की थी। रेपो रेट पहले की तरह 5.15 फीसदी है।


MPC के सभी 6 सदस्यों ने आपसी सहमति से माना कि आगे रेट कट करने की संभावनाएं है। हालांकि ग्रोथ और महंगाई को देखते हुए MPC ने फिलहाल रेट कट ना करने का फैसला किया है।


फिस्कल ईयर 2019-20 में रियल GDP ग्रोथ का अनुमान 6.1 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया है। इससे पहले अक्टूबर में RBI ने रियल GDP ग्रोथ 6.1 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। अक्टूबर से मार्च तक के लिए महंगाई दर का अनुमान बढ़ाकर 4.7-5.1 फीसदी किया।


MPC ने कहा कि इकोनॉमिक एक्टिविटी कमजोर हुई है और आउटपुट भी कमजोर बना हुआ है। हालांकि सरकार और RBI ने इकोनॉमी की रफ्तार बढ़ाने के लिए कई अहम कदम उठाए हैं।


RBI ने आगे कहा कि अगले साल बजट में बेहतर ढंग से पता चलेगा कि अर्थव्यवस्था के सपोर्ट में सरकार ने जो कदम उठाए हैं, उसका क्या फायदा हुआ है। RBI के मॉनेटरी पॉलिसी में कोई बदलाव ना करने से बाजार में गिरावट शुरू हो गई।


आम लोगों को फिलहाल राहत नहीं


RBI ने बैंकों को अपने लोन की ब्याज दर पॉलिसी रेट या किसी बाह्य बेंचमार्क के आधार पर तय करने का निर्देश दिया था। अक्टूबर की पॉलिसी के बाद बैंकों ने इसे मानना शुरू कर दिया है। इसका मतलब यह है कि आज अगर रेट कट होता तो लोन लेने वाले ग्राहकों को तुरंत इसका फायदा मिलने लगता।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।