Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

RBI ने महाराष्ट्र के 3 सहकारी बैंकों पर लगाया 23 लाख का जुर्माना, नियमों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई

RBI ने महाराष्ट्र के 3 सहकारी बैंकों पर नियमों का पालन नहीं करने के कारण कुल 23 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है
अपडेटेड Jun 22, 2021 पर 09:26  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने महाराष्ट्र के 3 सहकारी बैंकों (co-operative banks) पर नियमों का पालन नहीं करने के कारण कुल 23 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। RBI ने जिन 3 सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाया है उनमें मोगावीरा कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, इंदापुर अर्बन कोऑपरेटिव बैंक और बारामती सहकारी बैंक लिमिटेड शामिल हैं।

RBI ने सबसे अधिक 12 लाख रुपये का जुर्माना मुंबई के मोगावीरा कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड (Mogaveera Co-operative Bank) पर लगाया है। बैंक पर यह जुर्माना डिपोजिट अकाउंट के मेंटेनेंस और KYC में गड़बड़ी के कारण लगाया गया है। बैंक के इंस्पेक्शन रिपोर्ट से RBI को पता चल कि सहकारी बैंक ने 31 मार्च 2019 तक बिना क्लेम वाली जमाराशि को डिपॉजिटर एजुकेशन एंड अवायरनेस (DEA) फंड में पूरी तरह से ट्रांसफर नहीं किया था।

SAT से PNB Housing Finance को Carlyle के साथ डील पर वोटिंग के लिए 22 जून को EGM बुलाने की मंजूरी, SEBI को करारा झटका

साथ ही मोगावीरा कोऑपरेटिव बैंक ऑपरेट नहीं किए जा रहे खातों का सालाना रिव्यू भी नहीं किया था। जबकि नियमों के तहत ऐसा करना जरूरी है.। इसके अलावा इस बैंक ने खातों की रिस्क कैटेगरी का समय-समय पर रिव्यू करने की भी कोई व्यवस्था नहीं की थी।

इसी तरह RBI ने पुणे के इंदापुर अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। RBI के मुताबिक, इस बैंक की जांच रिपोर्ट से पता चला कि 31 मार्च 2019 तक बेंक ने अनसिक्योर्ड एडवांस की कुल सीलिंग का पालन नहीं किया था। इतना ही नहीं, बैंक ने सभी खातों की रिस्क कैटेगरी की समय-समय पर रिव्यू करने का भी कोई इंतजाम नहीं किया था।

After The Bell: निचले स्तरों से अच्छी रिकवरी के बाद बढ़त पर बंद हुआ बाजार, मंगलवार को क्या हो निवेश रणनीति

जबकि, बारामती सहकारी बैंक पर RBI ने 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया। बैंक पर यह जुर्माना किसी अन्य बैंक से किए गए लेन-देन में प्रूडेंशियल इंटर-बैंक एक्सपोजर लिमिट के उल्लंघन पर लगाया गया। RBI ने कहा है कि इन तीनों सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाने का फैसला रेगुलेटरी कंप्लायंस यानी में कमी पाए जाने की वजह से लगाया गया है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।