Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Bhima Koregaon Case: एक्टिविस्ट गौतम नवलखा को राहत, 15 अक्टूबर तक SC ने दिया अंतरिम प्रोटेक्शन

कोर्ट ने महाराष्ट्र पुलिस से उनके मामले के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट पेश करने को कहा है
अपडेटेड Oct 05, 2019 पर 13:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भीमा-कोरेगांव केस में आरोपी बनाए गए सोशल एक्टिविस्ट गौतम नवलखा को सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को बड़ी राहत दी। कोर्ट ने उनको केस में गिरफ्तारी के खिलाफ 15 अक्टूबर तक अंतरिम राहत दे दी है। कोर्ट ने महाराष्ट्र पुलिस से उनके मामले के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट पेश करने को कहा है।


कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार ने इस केस से नवलखा के कनेक्शन को लेकर जांच में सामने आई जानकारियों को अपने सामने लाने को कहा है।


बता दें कि 31 दिसंबर, 2017 को यलगार परिषद की सभा हुई थी, जिसके अगले दिन 1 जनवरी, 2018 को भीमा-कोरेगांव में हिंसा भड़क गई थी। इस केस में पुणे पुलिस ने गौतम नवलखा, सुधा भारद्वाज, वर्नन गोंजाल्विस और अरुण फरेरा को आरोपी ठहराकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।


पुलिस ने इन लोगों पर आरोप लगाया था कि इनके माओवादियों से लिंक हैं और यह अस्थिरता फैलाने के लिए माओवादियों के साथ काम कर रहे हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।