Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

कोरोना से परेशान अमेरिका ने पीएम मोदी से मांगे Hydroxychloroquine टैबेलेट्स

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से Hydroxychloroquine टैबलेट्स की खेप जारी करने की मांग की है
अपडेटेड Apr 06, 2020 पर 11:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस का दंश पूरी दुनिया झेल रही है। चीन से फैला ये वायरस पूरी दुनिया को लपेट रहा है। इटली में तो सबसे ज्यादा हालात खराब है। अमेरिका भी कोरोना वारस के संक्रमण से पस्त है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी के बीच कोरोना वायरस से लड़ने के लिए टेलीफोन पर बातचीत भी हुई है।


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ने शनिवार को कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) टैबलेट्स की खेप जारी करने का अनुरोध किया है। इस दवा का उपयोग COVID-19 रोगियों के इलाज के लिए किया जा सकता है।


अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने व्हाइट हाउस कोरोना वायरस टास्क फोर्स की घोषणा में कहा कि पीएम मोदी से फोन पर बातचीत हुई। इस दौरान रोकी गई हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट को जारी करने का अनुरोध किया है। इस अनुरोध के बाद भारत इस पर गंभीरता पूर्वक विचार कर रहा है। ट्रंप ने अपने बयान में ये भी कहा है कि वो भी इस दवा को ले सकते हैं, बशर्ते पहले वो अपने डॉक्टरों से सलाह लेंगे।


ट्रंप ने आगे कहा कि भारत इस दवा का बड़ी मात्रा निर्माण कर रहा है। उन्हें अपने लोगों को इसकी जरूरत पड़ेगी। वहां की जनसंख्या 1 अरब से अधिक है। ट्रंप ने कहा कि अगर भारत हमारे दिए हुए ऑर्डर को जारी करता है, तो हम भारत के आभारी रहेंगे।


भारत सरकार ने मलेरिया-रोधी दवा hydroxychloroquine और उसके formulation के निर्यात पर रोक लगा दी है।


इससे पहले पीएम मोदी ट्विटर पर कहा कि उनकी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ फोन पर विस्तार से चर्चा हुई। उन्होंने कहा, हमारी चर्चा काफी अच्छी रही और हमने कोविड-19 से निपटने में भारत-अमेरिका साझेदारी की पूरी ताकत का उपयोग करने पर सहमति व्यक्त की।


पीएम मोदी ने अमेरिकी में कोरोना संक्रमित मरीजों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की। इस समय अमेरिका कोरोना वायरस के चपेट में आ चुका है। Johns Hopkins Universitys tally (जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक, संयुक्त राज्य अमेरिका में कोरोना वायरस से कम से कम 3,01,902 नागरिक इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं, 8,175 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है।


वहीं खबर ये भी है कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो (Michael Pompeo) और भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर के बीच भी बातचीत की खबर है। दोनों के बीच बातचीत में कोरोना वायरस लड़ने पर चर्चा हुई।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।