Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

नवंबर में खुदरा महंगाई दर 5.54%, IIP गिरकर 3.8% पर आया

एक महीना पहले अक्टूबर में महंगाई दर 4.62 फीसदी थी
अपडेटेड Dec 13, 2019 पर 08:35  |  स्रोत : Moneycontrol.com

खुदरा महंगाई दर नवंबर में बढ़कर 5.54 फीसदी हो गई है। खाने-पीने की चीजों के दाम बढ़ने के कारण नवंबर में खुदरा महंगाई दर बढ़ी है। गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, अक्टूबर में महंगाई दर 4.62 फीसदी थी।


नवंबर में शहरी और ग्रामीण इलाकों में खाने-पीने की चीजों के दाम 10.01 फीसदी तक बढ़ गए हैं। हेडलाइन CPI में फूड की हिस्सेदारी 45.9 फीसदी है। खाने-पीने की चीजों के दाम में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। सितंबर में प्याज की कीमतों में 45.3 फीसदी इजाफा हुआ है। वहीं अक्टूबर में प्याज के दाम 19.6 फीसदी बढ़े हैं।


कोर इनफ्लेशन में फूड और फ्यूल जैसे कंपोनेंट नहीं होते हैं जिनमें सबसे ज्यादा उतारचढ़ाव होता है। नवंबर में कोर इनफ्लेशन में गिरावट आई है जिससे यह संकेत मिला है कि आर्थिक गतिविधियां कमजोर हुई हैं।


आंकड़ों पर एक नजर


कंज्यूमर फूड प्राइस इनफ्लेशन नवंबर में बढ़कर 10.01 फीसदी हुआ जो अक्टूबर में 7.89 फीसदी था।


सब्जियों की महंगाई नवंबर में बढ़कर 36 फीसदी हो गई है जो एक महीना पहले 26 फीसदी थी।


फ्यूल में नरमी रही जो कमजोर आर्थिक ग्रोथ का संकेत है। नवंबर में यह -1.93 फीसदी रहा जो अक्टूबर में 2.02 फीसदी था।


हाउसिंग इनफ्लेशन नवंबर में 4.49 फीसदी रहा जो अक्टूबर में 4.58 फीसदी था।


दालों की कीमतों में 13.94 फीसदी इजाफा हुआ है जो अक्टूबर में 11.72 फीसदी था।


IIP भी गिरा


अक्टूबर में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) घटकर 3.8 फीसदी पर आ गया। पावर, माइनिंग और मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के खराब प्रदर्शन के कारण IIP के नंबर इतने कमजोर हैं। पिछले साल इसी महीने में IIP की ग्रोथ 8.4 फीसदी थी। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ अक्टूबर में घटकर 2.1 फीसदी रह गई। एक साल पहले इसी महीने में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 8.2 फीसदी थी।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।