Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

खाने-पीने की चीजों के दाम बढ़ने से खुदरा महंगाई दर सितंबर में 3.99 फीसदी रही

सितंबर में खाने-पीने की चीजों के दाम 5.11 फीसदी बढ़े जबकि इससे एक महीना पहले इसमें 2.99 फीसदी की तेजी रही
अपडेटेड Oct 15, 2019 पर 09:02  |  स्रोत : Moneycontrol.com

खाने-पीने की चीजों के दाम बढ़ने के कारण सितंबर में रिटेल इनफ्लेशन बढ़कर 3.99 फीसदी हो गया है। सरकार ने सोमवार को रिटेल इनफ्लेशन के आंकड़े जारी किए। खुदरा महंगाई का यह आंकड़ा RBI के 4 फीसदी टारगेट के करीब है। इससे पहले महीने अगस्त में रिटेल महंगाई 3.28 फीसदी थी। पिछले साल इसी महीने में खुदरा महंगाई दर 3.7 फीसदी थी।


खाने-पीने की चीजों के दाम से किचेन के बजट का अंदाजा लग सकता है। मिनिस्ट्री ऑफ स्टैटिक्स एंड प्रोग्राम इंप्लिमेंटेशन (Mosp) के आंकड़ों के मुताबिक, सितंबर में खाने-पीने की चीजों के दाम 5.11 फीसदी बढ़े जबकि इससे एक महीना पहले इसमें 2.99 फीसदी की तेजी रही।


अनाज और दूसरे उत्पादों की महंगाई सितंबर में 1.66 फीसदी रही जो अगस्त में 1.3 फीसदी थी। वहीं सब्जियों के दाम सितंबर में 15.4 फीसदी बढ़े जो अगस्त में 6.9 फीसदी थे। दाल और दूसरे प्रोडक्ट्स की कीमतें सितंबर में 8.4 फीसदी बढ़ीं जबकि अगस्त में इनकी ग्रोथ 6.94 फीसदी थी।


थोक महंगाई में नरमी


थोक महंगाई को मोर्चे पर सरकार को राहत मिलती दिख रही है। सितंबर थोक महंगाई अगस्त के 1.08 फीसदी से घटकर 0.33 फीसदी पर रही है। हालांकि खाने-पीने की चीजों की थोक महंगाई बढ़ी है। महीने दर महीने आधार पर सितंबर में खाने-पीने की चीजों की थोक महंगाई 5.75 फीसदी से बढ़कर 5.98 फीसदी रही है। सितंबर में कोर WPI अगस्त के 0.3 फीसदी से घटकर -1.1 फीसदी रही है। बता दें कि जुलाई की WPI 1.08 फीसदी से संशोधित करके 1.17 फीसदी की गई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।